आजादी का अमृत महोत्सव में लॉ प्रदर्शनी से महका टिमिट

Spread the love

ख़ास बातें

  • समाज के उत्थान में न्यायविदों का अविस्मरणीय योगदानः जिला न्यायधीश
  • टीएमयू के लॉ स्टुडेंट्स को इंटर्नशिप के लिए किया डीएलएसए ने आमंत्रित
  •  भारतीय न्यायपालिका के 75 बरस के गौरवशाली इतिहास से पटे हैं पोस्टर्स

    –प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ लॉ की ओर से आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव पर बोलते हुए बतौर मुख्य अतिथि कार्यवाहक जिला जज, मुरादाबाद श्री अरविंद कुमार सिंह ने कहा, समाज के उत्थान में न्यायविदों का अविस्मरणीय योगदान रहा है। चाहे वह देश की आजादी का आन्दोलन हो या फिर सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन में अहम हिस्सेदारी रही है। 75 बरसों में न्यायपालिका ने ऐतिहासिक फैसले सुनाए हैं, जिससे समाज की दशा और दिशा में आमूल-चूल परिवर्तन आया है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण- डीएलएसए  के दिशा-निर्देश पर मनाए गए अमृत महोत्सव में प्रदर्शनी भी लगाई गई, जिसमें लॉ के छात्र-छात्राओं ने 75 बरस के न्यायिक व्यवस्था का उल्लेख किया। इससे पूर्व आजादी का अमृत महोत्सवः न्यायिक व्यवस्था के 75 साल का मुख्य अतिथि ने फीता काटकर उद्घाटन किया। प्रदर्शनी में छात्र-छात्राओं ने भारतीय न्यायपालिका से संबंधित इतिहास, मुख्य न्यायिक निर्णयों, न्यायिक प्रक्रियाओं और न्यायपालिका की गौरवशाली उपलब्धियों को प्रदर्शित किया।

इस मौके पर टीएमयू के रजिस्ट्रार डॉ. आदित्य शर्मा, टिमिट के निदेशक डॉ. विपिन जैन, न्यायपालिका की ओर से स्पेशल जज-एससी/एसटी- श्री सुनील कुमार, एडीजे- श्री पुनीत कुमार गुप्ता, श्री चंद्र विजय सिंह श्रीनेत्र, सीजेएम- श्री विमल वर्मा, सिविल जज- श्रीमती त्रिशा मिश्रा, श्री विनय कुमार जयसवाल, श्री सचिन कुमार दीक्षित, सुश्री खुशबू चंद्रा, श्री मोहित निरवाल, सुश्री वासु चौधरी, कॉलेज ऑफ लॉ एंड लीगल स्टडीज के एचओडी श्री बीआर मौर्य आदि की गरिमामयी मौजूदगी रही। संचालन टिमिट के निदेशक डॉ. विपिन जैन ने किया। अमृत महोत्सव के अंत में सभी अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भेंट किए गए। रजिस्ट्रार डॉ. आदित्य शर्मा बोले, अमृत महोत्सवः न्यायिक व्यवस्था के 75 साल पर केंद्रित पोस्टर प्रदर्शनी और अतिथियों का उद्बोधन लॉ के छात्र-छात्राओं के लिए ज्ञानप्रद साबित होगा। उन्होंने सभी अतिथियों का अभिनंदन करते हुए अमृत महोत्सव में आने के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही उम्मीद जताई, कॉलेज ऑफ लॉ एंड लीगल स्टडी भविष्य में भी ऐसे कार्यक्रम आयोजित करता रहेगा।

टिमिट के निदेशक प्रो. जैन बोले, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से टीएमयू के लॉ कॉलेज का गहरा रिश्ता है। हम दोनों छात्रों के हित में वर्षोें से साथ-साथ कार्य कर रहे हैं। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री नीतिवान निगम ने टीएमयू के लॉ स्टुडेंट्स को इंटर्नशिप के लिए अपने यहां आमंत्रित किया। लॉ कॉलेज के अमृत महोत्सव में बीएएलएलबी, बीकॉमएलएलबी और बीबीएएलएलबी के 300 से अधिक स्टुडेंट्स शामिल रहे। प्रोग्राम के अंत में श्री निगम का लॉ स्टुडेंट्स के संग इंट्रेक्शन हुआ। जहां छात्रों ने सवाल पूछकर अपनी जिज्ञासा शांत की, वहीं श्री निगम ने स्टुडेंट्स को न्यायिक अधिकारी बनने के लिए प्रेरित किया। अमृत महोत्सव में टिमिट की फैकल्टी- श्री अविनाश राजकुमार, श्री अरणो राज सिंह, श्री योगेश चंद्र गुप्ता, श्री सौरभ बटार, डॉ. चंचल चावला, डॉ. मनोज अग्रवाल, डॉ. अशोक कुमार, श्री चंद्रशेखर, श्री डालचंद गौतम के अलावा श्री शिवकुमार सक्सेना, श्री फैजउर रहमान शम्सी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!