बेपनाह उम्मीदें और बूढ़ी आंखों में बेबसी के आँसू

–-सुशील उपाध्याय— हरिद्वार बस स्टैंड पर अक्सर एक महिला मिल जाती है। 5 फीट से भी कम कद, इतनी पतली

Read more

पेरिस बुक फेस्टिवल 2022 में भारतीय पैवेलियन में साहित्य और संस्कृति का एक सारग्राही मेल

नयी दिल्ली 28 अप्रैल (उहि ) । पेरिस बुक फेस्टिवल में भारतीय पैवेलियन में साहित्यिक और सांस्कृतिक गतिविधियों की एक

Read more

स्नातकोत्तर महाविद्यालय नागनाथ पोखरी में इंग्लिश लिटरेचर पर राष्ट्रीय बेबिनार का आयोजन

पोखरी,  17 नवंबर  (राजेश्वरी राणा )। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय नागनाथ पोखरी में अंग्रेजी विभाग के तत्वावधान में बिभागाधयक्ष डा0 वर्षा सिंह

Read more

पवनदीप राजन उत्तराखण्ड का कला और संस्कृति ब्राण्ड एम्बेसेडर

देहरादून 25 अगस्त, 2021 मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पवनदीप राजन को कला, पर्यटन और संस्कृति में उत्तराखण्ड का ब्राण्ड

Read more

लोक साहित्य के भीष्म पितामह हैं चातक

सुप्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. गोविंद चातक उत्तराखंडी लोक साहित्य एवं लोकवार्ता के जनक हैं। उन्होंने पर्वतीय लोकजीवन में प्रचलित मान्यताओं, लोकगीतों,

Read more

कुमाऊँनी लोक साहित्य और लोक गायन की रही है सुंदर परंपरा

धार्मिक गीतों की सँख्या कुमाऊँ में अधिक है । धार्मिक गीतों में पौराणिक आख्यानों वाले गीतों का प्रथम स्तर पर

Read more
error: Content is protected !!