पर्यावरण

देहरादून शहर में फिर काटे जाएंगे सेकड़ों पेड़, प्रबुद्ध नागरिक 23 जून को निकालेंगे मार्च

देहरादून, 16 जून। कभी अपनी शुद्ध आवोहवा, नैसर्गिक सुंदरता और शांति के कारण  लघु भारत के नाम से भी  पुकारे जाने वाले दून  घाटी के विख्यात नगर की वर्तमान स्थिति से चिंतित प्रबुद्ध नागरिकों के संगठन ने सड़क कौड़ी करण के नाम  पर सेकड़ों पेड़ काटने के प्रस्ताव के विरोध में 23 जून को पैदल मार्च का ऐलान किया है।

पर्यावण बचाओ आंदोलन के एक प्रमुख आंदोलनकारी जगमोहन मेंदीरत्ता के अनुसार संगठन द्वारा आज सुबह 7 बजे गांधी पार्क में प्रस्तावित दिला राम बाजार से सेंट्रियो माल तक सड़क चौड़ीकरण के कारण लगभग 200 से ज्यादा पेडो को काटने के प्रस्ताव का विरोध करने का निर्णय लिया गया ।

मेंदीरत्ता के अनुसार पेड़ों को काटने के प्रस्ताव के विरोध मे 23 जून सुबह 7 बजे दिला राम बाजार से सेंट्रियो माल तक एक पैदल मार्च करने का निर्णय लिया गया ।

मेंदीरत्ता ने एक विग्यप्ति के माध्यम से कहा कि हरित आवरण का नुकसान और बढ़ता कंक्रीटीकरण शहरी ताप द्वीप प्रभाव को बढ़ा रहा है और देहरादून में 43°C तापमान की असहनीय अनसुनी स्थिति अवांछनीय और अधिकतर टाले जाने योग्य कंक्रीटीकरण का परिणाम है। देहरादून वासियों को पानी की कमी, जमीन, पानी, हवा, शोर, भोजन हर तरह का बढ़ता प्रदूषण आपको चिंतित कर रहा है

अवैज्ञानिक विकास और पर्यावरण की उपेक्षा के कारण दून अपनी अनूठी प्रकृति, अपनी यूएसपी खो रहा है। बासमती के ख़त्म हो जाने से, लीची के बगीचे ख़त्म हो गए, जलस्रोत गंदे हो गए और उन पर अतिक्रमण हो गया, एक्सप्रेसवे और अधिक से अधिक सड़कों के लिए साल के जंगलों को नष्ट किया जा रहा है। देहरादून के बाग़ बगीचों के नाम अब कॉलोनियों के नाम  हैं ।

उन्होंने कहा कि यदि हम वास्तव में चाहते हैं कि हमें गंभीरता से लिया जाए और हमारी मांगों को सुना जाए। संख्याओं का प्रदर्शन नेताओं को सुनने और कार्य करने के लिए मजबूर करेगा। घर बैठे और ऑनलाइन सरकार की आलोचना करना, शिकायत करना और गलतियाँ ढूँढ़ने से कोई फ़र्क नहीं पड़ता है।

गांधी पार्क  में आयोजितआज की बैठक में जया ,इरा चौहान रश्मि सहगल,रुचि सिंह अरंजिका राधा बोस जगमोहन मेंदीरत्ता हरि ओम पाली विजय भट्ट मुकेश नॉटियाल अनिल जग्गी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!