शिक्षा/साहित्य

टीएमयू में एक्सपर्ट्स ने किए ब्रेस्ट कैंसर पर अनुभव साझा

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद के मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर के सर्जरी विभाग और मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में ब्रेस्ट कैंसर पर वर्कशाप

मुरादाबाद, 8  अप्रैल।  मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, नई दिल्ली के मेडिकल आकोलॉजी की डायरेक्टर डॉ. मीनू वालिया, कैंसर केयर आकोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. नितिन लेखा और रेडिएशन आकोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. मनोज तायल आदि ने विभिन्न प्रकार के स्तन कैंसर और उसके इलाज पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने स्तन कैंसर मे जेनेटिक स्क्रीनिंग के महत्व को भी समझाया।

यह तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद के मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर के सर्जरी विभाग और मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में ब्रेस्ट कैंसर पर आयोजि वर्कशाप में बोल रहे थे। इससे पूर्व मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, नई दिल्ली के मेडिकल आकोलॉजी की डायरेक्टर डॉ. मीनू वालिया, कैंसर केयर आकोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. नितिन लेखा और रेडिएशन आकोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. मनोज तायल, रजिस्ट्रार डॉ. आदित्य शर्मा, टीएमयू मेडिकल कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल डॉ. एसके जैन, डिप्टी मेडिकल सुप्रिटेंडेंट प्रो. वीके सिंह आदि ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके वर्कशॉप का शुभारम्भ किया। सभी अतिथियों का बुके देकर गर्मजोशी से स्वागत किया। गया। अंत में सभी अतिथियों और प्रतिभागियों को मोमेंटो और सर्टिफिकेट्स देकर सम्मानित भी किया गया।

 

तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर में सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ. नवीन कुमार सिंह ने बताया, सही समय पर खुद से स्तन का बीच-बीच में परीक्षण कराने से देश भर की महिलाएं स्तन कैंसर को जल्द ही पकड़ सकती है। इससे उनका इलाज पूरी तरह से मुमकिन है और स्तान को काटने से भी बचाया जा सकता है। रेडियोलॉजी के प्रो. राजुल रस्तोगी ने स्तन कैंसर का जल्दी पता लगाने में अल्ट्रासाउंड और मेमोग्राम के रोल को बताया। कम्यूनिटी विभाग की डॉ. साधना सिंह ने कहा, देश में सबसे ज्यादा होने वाला कैंसर स्तन कैंसर ही है।

उन्होंने इससे जुडे़ रिस्क फैक्टर और कैंसर के कारणों पर भी प्रकाश डाला। इस मौके पर रजिस्ट्रार डॉ. आदित्य शर्मा, डॉ. एसके जैन, डॉ. वीके सिंह आदि ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किए। डॉ. अविरल गुप्ता ने वर्कशॉप के बाद मीटिंग द मास्टर्स सेशन के जरिए स्तन कैंसर के इलाज, रेडिएशन और सिकाई के फायदे आदि पर  सवाल-जवाब किए। डॉ. विपिन कुमार ने वोट ऑफ थैंक्स दिया। वर्कशॉप में प्रोफेसर्स- डॉ. आरके कौल, डॉ. सीके झकमौला, डॉ. एके सिंह के संग-संग विभिन्न विभागों की फैकल्टीज़ भी मौजूद रही। संचालन पीजी स्टुडेंट्स-डॉ. अनुराधा, डॉ. तनवीर, डॉ कृतिका, डॉ. सौम्या और डॉ. चिराग रहलन ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!