हरक सिंह को मना लिया: भाजपा का तूफान फिलहाल थमा

Spread the love

देहरादून 25 दिसम्बर (उहि) | धामी सरकार ने रूठे कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत को मना लिया है। सोमवार को सरकार कोटद्वार मेडिकल कालेज के लिए लगभग 25 करोड़ जारी कर सकती है। अमित शाह और सांसद बलूनी ने भी किया हस्तक्षेप, कैबिनेट में हरक ने किया था इस्तीफा देने का ऐलान

कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत शनिवार को पूरे 21 घंटे बाद अज्ञातवास से लौटे। हरक शुक्रवार रात को कैबिनेट की बैठक में इस्तीफा देकर अज्ञातवास पर निकल गए थे। तब से उनकी लोकेशन को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही थी। कैबिनेट से इस्तीफे का ऐलान करने के बाद से अज्ञातवास में चल रहे हरक सिंह रावत का शनिवार को दिनभर भाजपा दफ्तर में इंतजार होता रहा। पार्टी नेताओं का सुबह से ही कार्यालय में जमावड़ा शुरू हो गया था। गहमा – गहमी के बीच पार्टी के अधिकांश नेता हरक के इस कदम से सियासी नफा नुकसान का आकलन करते नजर आए। हरक सिंह रावत को मनाने में उत्तराखंड चुनाव सह प्रभारी व दिल्ली के विधायक आरपी सिंह और विधायक उमेश शर्मा काऊ ने अहम भूमिका निभाई। हरक के नाराज होकर कैबिनेट बैठक छोड़ने और इस्तीफे के ऐलान के बाद से आरपी सिंह और काऊ हरकत में आ गए थे और उन्होंने सरकार, संगठन और हरक के बीच सुलह में अहम भूमिका निभाई।

नाराजगी दूर होने के बाद कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने मुख्यमंत्री की खुलकर तारीफ करते हुए कहा है कि, उत्तराखंड को धामी जैसा सीएम पहली बार मिला है।शनिवार देर रात मीडिया से हरक सिंह रावत ने कहा कि, जिस तरह धामी राज्य के युवाओं, महिलाओं, दूरदराज के गांवों के लिए काम कर रहे हैं, मेरा आशीर्वाद उनके साथ है

शुक्रवार को मंत्रिमंडल बैठक के दौरान कोटद्वार मेडिकल कालेज को लेकर हरक और स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत में तीखी नोकझोंक हो गई थी। हरक ने तेवर दिखाते हुए कैबिनेट से इस्तीफा का ऐलान कर दिया और बैठक छोड़ बीच में ही चलते बने। दिन भर हरक का मोबाइल स्विच आफ चलता रहा है। सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी सक्रिय हुए और हरक के करीबी विधायक उमेश शर्मा काऊ के जरिए संपर्क साधा और उनकी नाराजगी को दूर करने के लिए आश्वस्त किया। मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार देर रात सीएम पुष्कर सिंह की फोन पर हरक से बात हुई। उन्होंने हरक को बताया कि मेडिकल कालेज के लिए पांच करोड़ रुपये की मंजूरी दी जा चुकी है। शनिवार को धामी ने कहा कि हरक ने कैबिनेट से कोई इस्तीफा नहीं दिया है और उनकी कोई नाराजगी भी नहीं है। सरकार ने दावा किया कि हरक ने सीएम धामी से कहा कि वे पार्टी के सच्चे सिपाही हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने दावा किया कि कैबिनेट मंत्री हरक कोई नाराज नहीं हैं। देर शाम लगभग पौने सात बजे कैबिनेट मंत्री हरक रावत न्यू कैंट रोड स्थित सीएम आवास पहुंचे और मुख्यमंत्री से मुलाकात की। धामी ने कहा कि सरकार मेडिकल कालेज के निर्माण को कटिबद्ध है। मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, मंत्री धन सिंह, विधायक काऊ भी मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!