उत्तराखण्ड में सडक निर्माण गुणवत्ता की जांच के लिये प्रयोगशाला खुली

Spread the love

देहरादून, 29 मई (उहि)े दि इंस्टीटे्यूशन ऑफ इन्जीनियर्स (इन्डिया), उत्तराखण्ड राज्य केन्द्र के प्रांगण में आई0ई0आई0 सडक निर्माण गुणवत्ता प्रयोगशाला का उद्घाटन गुरमीत सिंह, उत्तराखण्ड द्वारा सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष, नरेन्द्र सिंह चैयरमन, धर्म चन्द्र, मानद सचिव सतीश चन्द चौहान, निदेशक डा0 प्रशांत अग्रवाल एवं समस्त कार्यर्काणी के सदस्य उपस्थिति रहे।


नरेन्द्र सिंह ने बताया कि इस प्रयोगशाला का उद्देश्य सडक निर्माण के कार्यों में प्रयुक्त होने वाली सामग्री की गुणवत्ता जॉच उच्च तकनीकी उपकरणांे से करना है। यह प्रयोगशाला े तारकोल तथा कंक्रीट से बनने वाली सडकों के निर्माण कार्याे की गुणवत्ता की जांॅच करने में सक्षम है। इस प्रयोगशाला के निदेशक, डा0 प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि इस प्रयोगशाला में मिट्टी की जॉच, कंक्रीट में प्रयोग होने वाले सीमेन्ट, बजरी, रेत तथा क्रंक्रीट, मिक्स डिजाईन और तारकोल की जॉच पूरी निष्पक्ष एंव पारदर्शी रूप से की जायेगी।
नरेन्द्र सिंह ने यह भी बताया की उत्तराखण्ड राज्य में चार धाम यात्रा, ऋषिकेश एंव कर्णप्रयाग रेल मार्ग, देहरादून दिल्ली ऐलिवेटड रोड, सुरंगो जैसे बडे-बडे निर्माण कार्य किये जा रहे हैं। यह प्रयोगशाला इन निर्माण कार्यो में भी उपयोगी सिद्ध होगी । इस लैब का उदश्ेय यहॉ पर बन रहे भवनांे, सडकों व अन्य निर्माण कार्यो की जॉच करके उसकी गुणवत्ता को उत्कृष्टता प्रदान करना है। वर्षा ऋतु में सडकांे पर प्रयाप्त ढाल न दने के कारण जलभराव की समस्या आम रहती है और सड़कों की गुणवत्ता पर प्रश्नचिन्ह लगाती है। यह प्रयोगशाला इन समस्याओं की जांच करके समाधान के लिये पहल करेगी। इंस्ट्ट्यूशन के चेयरमैन धर्मचन्द एवं मानद सचिव सतीश चन्द्र चौहान ने राज्यपाल एवं समस्त कार्यकारिणी के सदस्यों का इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये धन्यवाद दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!