टीएमयू डेन्टल कॉलेज में मना नेशनल पैथोलोजिस्ट डे

Spread the love

ख़ास बातें

  • ई-पोस्टर, निबंध और साबुन कार्विंग प्रतियोगिता हुईं
  • पोस्टर में डॉ. अक्षत, निबंध में डियाना और साबुन कार्विंग में इफ्फत अव्वल
  • सर्वोच्च अंक पाने पर प्रीतम दास और अभिलीन सम्मानित

–प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के डेन्टल कॉलेज एवम् रिसर्च सेंटर के ओरल पैथोलॉजी एवम् ओरल माइक्रोबायोलॉजी विभाग की ओर से आयोजित नेशनल पैथोलॉजी डे पर ई-पोस्टर, निबंध और साबुन कार्विंग प्रतियोगिता हुईं। ई-पोस्टर में डॉ. अक्षत जैन, निबंध में डियाना नसर और साबुन कार्विंग में इफ्फत जहाँ ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. मनीष गोयल ने इन विजेता छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। प्राचार्य डॉ. गोयल ने  समय-समय पर जांच आदि कराने के महत्व पर प्रकाश डाला, जिससे बड़ी से बड़ी बीमारियों से बचा जा सकता है। इस मौके पर प्राचार्य डॉ. गोयल ने बीते वर्ष बीडीएस ओरल पैथोलॉजी में प्रीतम दास गुप्ता और बीडीएस डेन्टल एनाटोमी में अभिलीन को सर्वोत्तम अंक प्राप्त करने पर प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इससे पूर्व प्राचार्य और ओरल पैथोलॉजी एवम् ओरल माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एजओडी डॉ. मेघानंद टी नायक ने दोनों स्टुडेंट्स के संग केक भी काटा।

डॉ. नायक ने बताया कि ओरल पैथोलोजिस्ट डे क्यों मनाया जाता है। उन्होंने कहा, इस दिन को भारत के प्रथम पोस्ट ग्रेजुएट अध्यापक डॉ. एचएम ढोलकिया के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं। डॉ. मेघानंद ने बताया कि समय-समय पर डेन्टल चेकअप कराने से मुख में होने वाली छोटी बीमारियों का समय से इलाज कराकर कैंसर जैसी बड़ी बीमारी से बचा जा सकता है। इन प्रतियोगिताओं में करीब पचास से अधिक छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।

ई-पोस्टर में बीडीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा संचिता वर्मा, निबंध में निकिता सिंह, साबुन कार्विग में उज्जवला सिंह ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिताओं के आयोजन में डॉ. मेघानंद टी नायक, डॉ. गीतान्शु, डॉ. शिल्पा मलिक, डॉ. ज्योति रवि आदि के अलावा विभाग के पोस्ट ग्रेजुएट छात्र डॉ. मोहम्मद जैनुल, डॉ. अंजली, डॉ. नितिन एवम् इंटर्न छात्र-छात्राओं का भी योगदान रहा। ऑनलाइन वेबिनार भी हुआ। तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट इंनोवेशन काउंसिल-आईआईसी की ओर से आयोजित इस वेबिनार में मलेशिया की एसईजीआई यूनिवर्सिटी के ओरल पैथोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. आनंद एस टिगीनामनी ने बतौर गेस्ट स्पीकर अपने व्याख्यान में मुख में होने वाले कैंसर के बारे में प्रकाश डाला। इस ऑनलाइन वेबिनार में लगभग 250 छात्र-छात्राओं और अध्यापकों की मौजूदगी रही।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!