धर्म/संस्कृति/ चारधाम यात्रा

टीएमयू में बहेगी भक्ति की बयार, पर्वाधिराज महामहोत्सव का आज से शंखनाद

ख़ास बातें :

  • 23 सितंबर को होगा भगवान पुष्पदंत मोक्ष कल्याणक महोत्सव
  • श्री वर्धमान स्तोत्र विधान एवम् सुगंध दशमी-धूप खेवन 24 को
  • 28 में भगवान वासुपूज्य मोक्ष कल्याणक महोत्सव और लाडू समर्पण
  • 105 श्री सृष्टि भूषण माता जी और 105 श्री विश्वयशमति माता जी का 06 अक्टूबर को होगा मंगल प्रवेश
  • दशलक्षण महापर्व का 08 अक्टूबर को भव्य रथयात्रा महोत्सव के संग होगा समापन

मुरादाबाद, 18 सितम्बर। तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद में पर्वाधिराज दशलक्षण महामहोत्सव का शंखनाद 19 सितंबर यानी आज मंगलवार से होगा। जिनालय से लेकर रिद्धि-सिद्धि भवन में महामहोत्सव की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। दस दिन तक टीएमयू कैंपस में आस्था की बयार बहेगी।

 

इन दस दिनों में दशलक्षण महापर्व में 03 दिन अति महत्वपूर्ण हैं। भगवान पुष्पदंत मोक्ष कल्याणक महोत्सव विधि-विधान से 23 सितंबर को होगा। श्री वर्धमान स्तोत्र विधान- मुनिश्री 108 प्रणम्य सागर महाराज द्वारा रचित एवम् सुगंध दशमी-धूप खेवन 24 सितबंर को होगा। 28 सितंबर को अनन्त चौदस पर भगवान वासुपूज्य मोक्ष कल्याणक महोत्सव और लाडू समर्पण कार्यक्रम होगा। ये सभी कार्यक्रम शिखर जी से आए प्रतिष्ठाचार्य ऋषभ जैन शास्त्री जी एवं ब्रहमचारिणी कल्पना दीदी के सानिध्य में होंगे। भोपाल से सुनील सरगम एंड पार्टी अपनी भक्तिमय सुर और साज में आस्था के सागर में डुबकी लगवाएंगे। उल्लेखनीय है, रिद्धि-सिद्धि भवन में प्रतिदिन शाम को 6:30 बजे से साढ़े 7:30 बजे तक आरती हुआ करेगी, रिद्धि-सिद्धि भवन के मंच पर ही 7:30 बजे से 8:15 बजे तक प्रवचन हुआ करेंगे। टीएमयू के ऑडिटोरियम में रात्रि 8:15 बजे से कॉलेजवार कल्चरल प्रोग्राम्स की प्रस्तुति होगी। दशलक्षण महामहोत्सव के अंतिम दिन से अगले दिन- 29 सितंबर को कुलाधिपति आवास- संवृद्धि में श्रावक/श्राविकाओं का पारणा होगा।

 

महामहोत्सव के पहले दिन उत्तम क्षमा दिवस पर सीसीएसआईटी के छात्र-छात्राओं की ओर से जिनाशन की महिमा, दूसरे दिन उत्तम मार्दव पर फार्मेसी और लॉ कॉलेज की ओर से ममत्व से अमृत्व की यात्रा, तीसरे दिन उत्तम आर्जव पर फैकल्टी ऑफ़ इंजीनियरिंग की ओर से संकल्पी हिंसा का फल, चौथे दिन उत्तम शौच के तहत टिमिट की ओर से राजा श्रेणिक की कहानी-सती चेलना, पांचवे दिन उत्तम सत्य पर टीएमयू फैकल्टी की ओर से तीर्थंकर महावीर जिनालय-एक यात्रा, छठे दिन उत्तम संयम के तहत मेडिकल कॉलेज की ओर से जिन धारा- नारी शक्ति: एक अभिव्यक्ति, सातवें दिन उत्तम तप के तहत टिमिट की ओर से अहिंसा व्रत की महिमा, आठवें दिन उत्तम त्याग पर डेंटल कॉलेज की ओर से समन्वयक-ण्मोकार मंत्र की महिमा, नवें दिन उत्तम आकिंचन्य के तहत सीसीएसआईटी की ओर से एक शाम वैराग्य के नाम, दसमें दिन उत्तम ब्रहम्चार्य दिवस की शाम को महाआरती होगी। 19 सितंबर की सुबह ही कुलाधिपति परिवार की ओर से जिनालय पर ध्वाजारोहण होगा। श्री 1008 आदिनाथ भगवान की प्रतिमा को वेदी से पालकी तक लाया जाएगा। श्री 1008 आदिनाथ भगवान को पालकी में बैठाकर दिव्यघोष के बीच रिद्धि-सिद्धि भवन में पांडुशिला पर विराजमान किया जाएगा। श्री 1008 आदिनाथ भगवान का चार स्वर्ण कलशों से अभिषेक होगा। शांतिधारा की जाएगी। इस मौके पर कुलाधिपति श्री सुरेश जैन, फर्स्ट लेडी श्रीमती बीना जैन, ग्रुप वाइस चेयरमैन श्री मनीष जैन, उनकी धर्मपत्नी श्रीमती ऋचा जैन, एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर श्री अक्षत जैन, सुश्री नंदिनी जैन के संग-संग फैकल्टीज औऱ सैकड़ों श्रावक और श्राविकाएं मौजूद रहेंगे। उत्तम क्षमा धर्म पर प्रतिष्ठाचार्य ऋषभ जैन शास्त्री जी की देखरेख में समुच्चय पूजा, सोलहकारण पूजा, पंचमेरू पूजा और दशलक्षण पूजा विधि-विधान से कराई जाएगी।

 

टीएमयू कैंपस में बड़ी धूमधाम से भव्य रथयात्रा महोत्सव 08 अक्टूबर को निकलेगी, जिसमें आर्यिका रत्न 105 श्री सृष्टि भूषण माता जी और आर्यिका 105 श्री विश्वयशमति माता जी की गरिमामयी मौजूदगी रहेगी, जबकि आर्यिका रत्न ससंघ का टीएमयू में 06 अक्टूबर को ही मंगलप्रवेश होगा। पर्वाधिराज दशलक्षण महामहोत्सव में मुरादाबाद मंडल के अलावा आसपास जिलों से जैन समाज के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!