शिक्षा/साहित्य

टीएमयू पैरामेडिकल की प्रश्नोत्तरी में कामरान, ज्योति, उरूज़, आरती प्रथम

 

 

 

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज की ओर से तपेदिक उन्मूलन सप्ताह पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, पैथोलॉजी विभाग की एचओडी प्रो. सीमा अवस्थी ने बतौर मुख्य अतिथि की शिरकत

 

 

 खास बातें :

  • 50 फीसदी जनसंख्या टीबी बैक्टीरिया की वाहकः प्रो. अवस्थी
  • बीआरआईटी के सुहैल, हफ्जा, सिदरा और गुरलीन रहे द्वितीय
  • सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार और प्रमाण पत्र भी किए वितरित

मुरादाबाद, 11 अप्रैल ।तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज की ओर से तपेदिक उन्मूलन सप्ताह पर हुई प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में बीएमएलटी के कामरान अली, ज्योति कुशवाह, उरूज़ फातिमा और आरती विजेता रहीं। बीआरआईटी के सुहैल खान, हफ्जा खान, सिदरा और गुरलीन कौर ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। बीएमएलटी के छात्र रमन कुमार और एमआरआईटी की अंजली जैन ने टीबी रोग के लक्षणों, पहचान के तरीकों, और उपचार के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम में टीबी के विषय में जागरूकता को लेकर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता भी हुई। प्रतियोगिता में चार-चार छात्रों के चार समूहों समेत कुल 16 स्टुडेंट्स ने प्रतिभाग किया। इससे पूर्व पैथोलॉजी विभाग की एचओडी प्रो. सीमा अवस्थी ने बतौर मुख्य अतिथि, कॉलेज ऑफ पैरामेडिकल साइंसेज़ के वाइस प्रिंसिपल डॉ. नवनीत कुमार आदि ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया गया। सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार और प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए।

 

 

तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर में पैथोलॉजी विभाग की एचओडी प्रो. सीमा अवस्थी ने बतौर मुख्य अतिथि कहा, टीबी एक बैक्टीरिया से फैलने वाली संक्रमण बीमारी है। यह बीमारी दवाइयों के उपचार से पूरी तरह ठीक हो सकती है, फिर भी देश की लगभग 50 फीसदी जनसंख्या टीबी बैक्टीरिया की वाहक है। कार्यक्रम में एमएलटी की एचओडी डॉ. रूचि कांत, आरआईटी की एचओडी श्रीमती प्रियंका सिंह, फॉरेंसिक के एचओडी श्री रवि कुमार, श्रीमती अर्चना जैन के संग-संग श्रीमती शिखा पालीवाल, डॉ. कंचन गुप्ता, श्री देवेन्द्र सिंह, श्री बैजनाथ दास, मिस विवेचना, मिस मेघा चौधरी, श्री हिमांशु यादव, श्री विनय पाठक आदि भी मौजूद रहे। संचालन स्टुडेंट्स रमन कुमार और ईशा चौधरी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!