टीएमयू में दिए गए सड़क सुरक्षा के टिप्स

Spread the love

खास बातें:

  • एफओईसीएस में निबंध लेखन प्रतियोगिता में छात्रा प्रेरणा सैनी प्रथम
  • निबंध लेखन प्रतियोगिता में पचास विद्यार्थियों ने किया प्रतिभाग
  • कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंसेज में आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता में पी शिवा प्रथम
  • फिजियोथैरेपी विभाग में पीपीटी के जरिए समझाया यातायात चिन्हों का महत्व

 –प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एंड कम्प्यूटिंग साइंसेज-एफओईसीएस के सभागार में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई की ओर से सड़क सुरक्षा सप्ताह जागरूकता को लेकर आयोजित पर निबंध लेखन प्रतियोगिता में बीएससी ऑनर्स गणित फाइनल ईयर की छात्रा प्रेरणा सैनी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। बीएससी ऑनर्स गणित अंतिम वर्ष के छात्र नमन जोशी ने दूसरा जबकि बीएससी ऑनर्स गणित अंतिम वर्ष की छात्रा अनामिका जैन ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। निबंध लेखन प्रतियोगिता में कुल पचास विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया। निर्णायक मण्डल के सदस्यों डॉ. लक्ष्मी कांत तिवारी, डॉ. कामेश कुमार और डॉ. गोपाल गुप्ता आदि शामिल रहे। संचालन बीएससी ऑनर्स मैथमेटिक्स फाइनल ईयर के हिमांशु शर्मा ने किया।

कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंसेज की ओर से सड़क सुरक्षा सप्ताह जागरूकता को लेकर आयोजित पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में पी शिवा कुमार ने प्रथम, राधिका कुमारी ने द्वितीय और बी लक्ष्मी प्रत्युषा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। दूसरी ओर डिपार्टमेंट ऑॅफ फिजियोथैरेपी में भी पीपीटी के जरिए सड़क सुरक्षा से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं को विस्तार पूर्वक समझाया गय। कार्यक्रम में स्टुडेंट्स को एक वीडियो के जरिए यातायत सुरक्षा संकेतों के बारे में जानकारी दी गई। वीडियो के माध्यम से छात्रों को राष्ट्रीय राजमार्गों पर लगे विभिन्न यातायात चिन्हों का महत्व बताया गया।

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ एफओईसीएस के निदेशक एवं प्राचार्य प्रो. राकेश कुमार द्विवेदी ने किया। कार्यक्रम के अंत में कॉलेज में एनएसएस यूनिट के कोऑर्डिनेटर डॉ. अभिनव सक्सेना ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर मैथमेटिक्स के विभागाध्यक्ष डॉ. अजीत कुमार, डॉ. अशोक कुमार, डॉ. आलोक गहलोत के अलावा बीएससी ऑनर्स मैथमेटिक्स, बीएससी ऑनर्स फिजिक्स, बीएससी ऑनर्स केमिस्ट्री, बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग और एनएसएस के छात्र-छात्राएँ उपस्थित रहे। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ। उल्लेखनीय है, ये कार्यक्रम उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जारी गाइडलाइनस के तहत किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!