क्षेत्रीय समाचार

मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल बोले, आने वाली पीढी के लिए हमें पानी और पर्यावरण बचाना जरूरी

*आने वाली पीढी के लिए पानी और पर्यावरण को बचाने की मुहिम में जुटें : प्रेम चंद्र अग्रवाल*

*बग्याल गांव में आयोजित जल उत्सव में किया प्रतिभाग*

-uttarakhand himalaya.in-
उत्तरकाशी, 16 जून । कैबिनेट मंत्री श्री प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा है कि आने वाली पीढी के लिए हमें पानी और पर्यावरण को बचाने की मुहिम में जुटना होगा। जल संकट की आहट से सचेत व सजग होकर पानी के संरक्षण व सदुपयोग के लिए हमें अभी से काम करना होगा वरना भविष्य में जल संकट काफी गहरा सकता है।

शहरी विकास, आवास, वित्त, विधायी एवं संसदीय कार्य, पुनर्गठन, जनगणना मंत्री श्री प्रेम चंद अग्रवाल जल संरक्षण अभियान के अंतर्गत बग्याल गांव में आयोजित ‘जल उत्सव‘ कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि भाग लिया। इस मौके पर उन्होंने पौधारोपण और बीज बम फेंककर पानी व पर्यावरण संरक्षण की गतिविधियो में सभी लोगों से व्यापक स्तर पर सहभागिता सुनिश्चित करने का आह्वान किया।
बग्याल गांव के पंचायती चौक में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि इन दिनों राज्य का काफी क्षेत्र वनाग्नि की चपेट में आया है, जो काफी चिंताजनक है। इससे जैव विविधता एवं पर्यावरण को काफी नुकसान पहॅुचता है। पर्यावरण को हो रहे नुकसान की प्रमुख वजह मानवीय गतिविधियां ही हैं। हमें इस दिशा में गहन चिंतन करना जरूरी है। अगर हमने अपनी इन प्रवृत्तियों पर रोक नहीं लगाई जो आने वाली पीढियों के लिए पानी का काफी संकट पैदा हो सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने आसन्न संकट से निपटने के लिए विभिन्न स्तरों पर व्यापक प्रयास शुरू कर अनेक महत्वाकांक्षी योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित किए है। केन्द्र सरकार द्वारा शुरू जल जीवन मिशन पेयजल की समस्या के समाधान का एक अत्यंत महत्वाकांक्षी व उल्लेखनीय कदम है। इन सभी प्रयासों को सफल बनाने में जन-सहयोग जरूरी है, लिहाजा सभी लोगों को अपने भविष्य के प्रति जिम्मेदारी का निर्वाह कर पानी व पर्यावरण बचाने की मुहिम में जुटे रहना होगा।
इस मौके पर शहरी विकास मंत्री श्री अग्रवाल ने ग्रामीणों की मांग पर बग्याल गांव में स्ट्रीट लाईट की स्थापना, कंडार देवता मंदिर का सौंदर्यीकरण और सड़क के अनुरक्षण की व्यवस्था कराए जाने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया। श्री अग्रवाल ने इस मौके पर सिंचाई के लिए कृषि विभाग के सौजन्य से एचडीपीई पाईप भी ग्रामीणों को वितरण किया।
इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ.मेहरबान सिंह बिष्ट ने कैबिनेट मंत्री को जल संरक्षण अभियान एवं अन्य कार्यक्रमों की जानकारी दी। जिले के सभी 6 विकास खंडों में 60 जल स्रोतों एवं 20 सहायक नदियों के उपचारात्मक गतिविधियों के माध्यम से जल संरक्षण एवं संवर्द्धन हेतु स्प्रिंग एवं रीवर रिजुविनेशन अर्थारिटी (सारा) के अधीन संचालित जल संरक्षण अभियान के तहत वृक्षारोपण, घास रोपण, चैक डैम, चाल-खाल व खंती निर्माण जैसी अनकों गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं। अभियान के तहत 10 से 16 जून तक आयोजित जल उत्सव कार्यक्रम में बडे पैमाने पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।
कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी रजा अब्बास, प्रभागीय चवनाधिकारी डीपी बलूनी, उप निदेशक गंगोत्री नेशनल पार्क आरएन पांडेय, उपजिलाधिकारी बृजेश कुमार तिवारी, पीडी डीआरडीए पुष्पेन्द्र चौहान, उप निदेशक सारा अजय कुमार, मुख्य कृषि अधिकारी जेपी तिवारी, मुख्य उद्यान अधिकारी जेपी तिवारी, सीएमओ डॉ. बीएस रावत, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी चेतना अरोड़ा, ख्ंड विकास अधिकारी अमित मंमगाईं,जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधीर जोशी सहित विभन्न विभागों के अधिकारियों एवं ग्रामीणों ने प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम में ब्लॉक प्रमुख भटवाड़ी विनीता रावत, ब्लॉक प्रमुख डुंडा शैलेंद्र कोहली, बग्याल गांव के ग्राम प्रधान प्रथम सिंह नेगी, क्षेत्र पंचायत सदस्य पूजा डंगवाल, पाटा के प्रधान नरेश सिंह, भाजपा नेता हरीश डंगवाल, जगमोहन रावत, विजय बडोनी, राजेंद्र गंगाड़ी भी उपस्थित रहे।

*बड़कोट नगर की पेयजल समस्या के स्थाई समाधान होगा : अग्रवाल*

इस मौके पर कैबिनेट मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि बड़कोट नगर की पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए प्रस्तावित पेयजल योजना को जल्द स्वीकृत करने का प्रयास किया जाएगा। तब तक वैकल्पिक साधनों से जलापूर्ति की उपयुक्त व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि गर्मियों के दौरान पैदा होने वाले जल संकट से निपटने के लिए हर ब्लॉक में एक-एक नलकूप स्थापित करने की योजना जिला योजना में शामिल की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!