संचारक्रांति के युग में रिखणीखाल के गांव संचार विहीन

Spread the love

रिखणीखाल (पौड़ी) 29 मई(प्रभुपाल)। दूर संचार विभाग की लापरवाही से परेशान इस विकासखड की 40 से अधिक ग्राम पंचायतों के नागरिकों ने केन्द्रीय संचार मंत्री अश्वनि वैष्णव को ज्ञापन भेज कर ‘क्वीराली तोलियू’ पहाड़ी पर स्थित बीएसएनएल मोबाइल टावर की मेहमान गिरी से निजात दिलाने की मांग की है। ग्रामीणों का कहना है कि संचार क्रांति के इस युग में जहां दुनियां सिमट कर एक गांव बन गयी है वहीं रिखणीखाल ब्लाक में संचार व्यवस्था ध्वस्त होने के करण आसपास के गांव भी एक दूसरे से बहुत दूर हो गये हैं।
अश्वनि वैष्णव को भेजे ज्ञापन में कहा गया है कि लगभग 45 ग्राम पंचायतों को 5 साल पहले बीएसएनएल द्वारा 2जी मोबाइल सुविधा प्रदान करने हेतु ’क्वीराली तोलियू’ के पहाड़ी पर एक मोबाइल टावर स्थापित किया गया था। इसका संचालन नैनीडांडा ब्लाक के हल्दुखाल से किया जाता है। इस टावर से महीने में 10 दिन नेटवर्क मेहमान की तरह 1 दिन के लिए शाम को 4 बजे आता है और सुबह फिर चला जाता है। इसके अलावा क्षेत्र में जब भी बिजली कटती है तो मोबाइल का नेटवर्क भी कट जाता है। इस टावर को चालू करने के लिए जेरनेटर भी क्रियाशील नहीं है।
बीएसएनएल एवं मोबाइल कंपनियों द्वारा प्रतिमाह 28 दिन का चार्ज लिया जाता है किंतु क्षेत्र में नेटवर्क 10 दिन भी नहीं रहता है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब लोगों को प्रतिमाह 18 दिन का आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई और नागरिक सेवाएं इंटरनेट के बिना उपलब्ध नहीं हो पाती हैं। इस प्रकार केंद्र सरकार द्वारा लापरवाही के कारण इस डिजिटल युग के जमाने में ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को सरकारी सेवाएं लेने से भी वंचित किए जा रहे हैं।
इस संबंध में, जनरल मैनेजर संचार की वाहक श्रीनगर का कहना है कि धनाभाव एवं संसाधनों की कमी के कारण वह इस समस्या का समाधान नहीं कर पा रहे हैं। ग्रामीणों की मांग है कि विभाग तत्काल मोबाइल टावर का 2जी से 4जी उच्चीकरण करे साथ ही पावर कट के दौरान जनरेटर से चलाने की व्यवस्था की जाय। परेशान ग्रामीणों की यह भी मांग है कि हल्दुखाल स्थित सेवा केंद्र में मरम्मत हेतु स्थाई व्यवस्था की जाय और साथ ही टावर की मरम्मत एवं देखरेख की व्यवस्था सुनिचित की जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!