टीएमयू के प्रति रुझान में उछाल, एडमिशन सेल गुलजार

Spread the love

–प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

यूपी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई, आईसीएसई के संग-संग देशभर के दीगर सूबों के इंटरमीडिएट परीक्षा के नतीजों के एलान के बाद तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद में आजकल प्रवेश के लिए खासी भीड़ है। यूं कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी, टीएमयू का एडमिशन सेल गुलजार है। हर-रोज सैकड़ों स्टुडेंट्स न केवल अपने पसंदीदा कोर्स के लिए गहनता से पूछताछ कर रहे हैं, बल्कि प्रवेश भी ले रहे हैं। फिलहाल 500 क्विरीज प्रतिदिन हो रही हैं। आधी फिजिकली विजिट तो आधी तादात टेलीफोनिक सम्पर्क कर रही है। फिलहाल एजुकेशन, इंजीनियरिंग, आईटी, मैनेजमेंट, ला, कॉमर्स, फिजिकल एजुकेशन, फाइन आर्टस, पॉलीटेक्निक सरीखे कोर्सों में मेरिट बेस्ड प्रवेश धड़ल्ले से हो रहे हैं।

सीयूईटी नतीजों का बेसब्री से इंतजार

कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट-सीयूईटी में दो लाख से अधिक स्टुडेंट्स ने एडमिशन के लिए तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के 33 कोर्सेंज के प्रति ऑनलाइन पंजीयन में अपना जबर्दस्त रूझान दर्शाया है। देशभर के इतने बड़े पैमाने पर आवेदकों ने टीएमयू के प्रति भरोसा जताया है। अब यूनिवर्सिटी को सीयूईटी के नतीजों का बेसब्री से इंतजार है।

 

जैन स्टुडेंट्स को प्रवेश शुल्क में छूट

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी को जैन समुदाय की श्रेणी में अल्पसंख्यक यूनिवर्सिटी की मान्यता प्राप्त है। इस नाते मेडिकल कोर्सेंज को छोड़कर जैन छात्र-छात्राओं को बाकी कोर्सेंज में एडमिशन के लिए छूट का प्रावधान है। जैन स्टुडेंट्स को 50 प्रतिशत तक ट्यूशन फीस, 40 प्रतिशत तक हॉस्टल शुल्क और 100 प्रतिशत तक फिजिकल एजुकेशन में छूट का प्रावधान है। यूनिवर्सिटी अब तक जैन विद्यार्थियों को 56 करोड़ तक की छूट दी जा चुकी है। खास बात यह है, यूनिवर्सिटी केन्द्र या राज्य सरकार या किसी और संस्था से कोई वित्तीय मदद नहीं लेती है। इतनी बड़ी रकम यूनिवर्सिटी खुद ही वहन करती है। सिब्लिंग श्रेणी में किसी एक को 10 फीसदी तक की ट्यूशन फी में रियायत देती है।

 

टीएमयू की झोली में बेशुमार उपलब्धियां

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर श्री अक्षत जैन कहते हैं, 2021-22 में हमने तमाम उपलब्धियां हासिल की हैं। यूजीसी ने यूनिवर्सिटी को 12बी के स्टेटस की मान्यता दी है। तीर्थंकर कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर साइंसेज आईसीएआर से एकक्रेडीटेड हो गया है। इस मान्यता के बाद यह कॉलेज इंडिया के टॉप 10 कॉलेजों में शुमार हो गया है। यूपी सरकार ने टीएमयू इंक्यूबेशन सेंटर को मान्यता दे दी। आउटकम बेस्ड एजुकेशन में बेस्ट यूनिवर्सिटी का अवार्ड भी टीएमयू की झोली में आया है। श्री जैन कहते हैं, प्रतिदिन की विजिट और कॉल्स में स्टुडेंट्स के उत्साह के संग-संग सीयूईटी में आल इंडिया दो लाख से अधिक छात्र-छात्राओं के रूझान को देखते हुए 2022-23 में बीते सत्र की अपेक्षा ज्यादा प्रवेश होने की उम्मीद है। ज्वाइंट डायरेक्टर-एडमिशन श्री अवनीश कुमार कहते हैं, प्रवेश के लिए हमारी पूरी टीम शिद्दत से काम कर रही है। हम लक्ष्य को सहज ही अचीव कर लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!