उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का भगवाकरण पर बयान दुर्भाग्यपूर्ण:- आप

Spread the love
देहरादून आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद ने उत्तराखंड के दौरे पर हरिद्वार पहुंचे उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के उस बयान पर आपत्ति जाहिर की जिसमें की उन्होंने कहा की *हम पर शिक्षा का भगवाकरण करने का आरोप है, लेकिन ‘भगवा में गलत क्या है?
Ravindra Anand AP spokesperson
रविंद्र ने कहा की उप राष्ट्रपति  यह भूल गए हैं कि वह देश के उपराष्ट्रपति हैं ना कि बीजेपी के कोई नेता उन्होंने कहा कि बीजेपी भगवे की आड़ में देश में धर्म की राजनीति काफी समय से कर रही है, लेकिन अब तो हद हो गई जब उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने भगवे की तरफदारी करते हुए शिक्षा को जाति धर्म से जोड़ दिया। उन्होंने कहा कि किसी भी राजनीतिक व्यक्ति पार्टी उच्च पद पर बैठे हुए व्यक्ति को यह शोभा नहीं देता कि वह किसी जाति विशेष रंग पर बल दे। उन्होंने कहा भारत एक सेकुलर देश है और यह कहना असंवैधानिक है। उन्होंने इसका कारण एम वेंकैयानायडू के पूर्व में भाजपा के कई पदों पर आसीन रहने को बताया ।उन्होंने कहा हम उस वक्त तक विकसित देशों की श्रेणी में नहीं आ सकते जब तक कि हम जाति धर्म रंग से ऊपर ना उठ जाएं।  उन्होंने कहा भारत देश सभी जाति धर्म रंगों का है।  उन्होंने कहा कि यदि उपराष्ट्रपति शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं को सभी धर्मों तक पहुंचाने की बात करते तो अच्छा होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!