मां के साथ पिंडर नदी में गिर कर बहे किशोर का शव भी बरामद, 9 साल बाद भी सरकार ने नहीं बनाया पुल

Spread the love

थराली/देवाल से हरेंद्र बिष्ट

विकासखंड देवाल के अंतिम गांव हरमल के पास पिंडर नदी पर ग्रामीणों के द्वारा डालें गए भेता लकड़ी के लट्ठे से नदी को पार करते हुए रामपुर तोर्ती गांव के पिंडर नदी में बह किशोर का भी शव घटना के करीब 21 घंटों के बाद बरामद कर लिया गया हैं। महिला एवं किशोर के शवों को देर रात राजस्व पुलिस, रेगुलर पुलिस, एसडीआरएफ एवं क्षेत्रीय ग्रामीणों के द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद पोस्टमार्टम के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र देवाल लाया गया हैं। यहां पर आज दोनो का पोस्टमार्टम किये जाने की संभावना है। इस घटना से रामपुर,तोर्ती,हरमल,चोटिंग के साथ ही बागेश्वर जिले के किलपारा गांव में शोक छाया हुआ है।

ज्ञातव्य है कि शुक्रवार को रामपुर गांव की महिला हेमा देवी पत्नी प्रताप राम एवं प्रवीन कुमार पुत्र प्रताप राम बागेश्वर जिले के किलपारा गांव जहां महिला का मायका था, में एक पूजा के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अपने ससुराल रामपुर आ रहे थे कि देर सांय हरमल गांव में ग्रामीणों के द्वारा पुल के अभाव में पिंडर नदी को आर-पार करने के लिए नदी में डाले है लकड़ी के भेता से संतुलन बिगड़ने के कारण दोनों मां बेटा नदी में बह गए थे । जहां महिला का शव शुक्रवार को ही घटनास्थल से कुछ दूरी पर ग्रामीणों ने नदी से निकाल लिया था। वही किशोर के शव का पता नही चल पा रहा था।जिस पर स्थानीय ग्रामीणों के साथ मिलकर राजस्व पुलिस, रेगुलर पुलिस, एसडीआरएफ ने पिंडर नदी में एक सर्च आपरेशन चलाया इस पर शनिवार दोपहर को किशोर का शव घटना स्थल से करीब 6 किमी दूर मानमती गांव के खोलपाटा तोक के नीचे पिंडर नदी में फंसा हुआ मिला।

कड़ी मशक्कत के बाद किशोर के शव को नदी से निकाला गया।इन दिनों इस क्षेत्र में यातायात की उचित व्यवस्था नही होने के कारण कड़ी मशक्कत के बाद दोनों के शवों को कल देर रात देवाल लाया गया। जहां पर आज दोनो के शवों का पोस्टमार्टम होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!