गहतोड़ी ने सीट छोड़ी, धामी चम्पावत से उप चुनाव लड़ेंगे, कांग्रेस को राहत

Spread the love

देहरादून, 21 अप्रैल(उहि)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिये अपनी सीट खाली करने के लिये चम्पावत के भाजपा विधायक कैलाश चन्द्र गहतोड़ी ने वृहस्पतिवार को अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूड़ी को सौंप दिया जिसे स्वीकार कर लिया गया। इस इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री धामी के उपचुनाव लड़ने वाली सीट पर लग रही अटकलों को विराम लग गया। इससे पहले कांग्रेस में मची धमासाान के बीच धारचुला के विधायक हरीश धामी द्वारा भी मुख्यमंत्री के लिये सीट छोड़े जाने की संभावना व्यक्त की जा रही थी।
कैलाश गहतोड़ी ने वृहस्पतिवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक आदि वरिष्ठ नेताओं के साथ विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूड़ी के कक्ष में जाकर विधायक पद से अपना इस्तीफा उन्हें सौंप दिया, जिसे विधानसभाध्यक्षा ने स्वीकार कर लिया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री धामी के लिये उपचुनाव लड़ने के लिये एक सीट खाली हो गयी और उनका चम्पावत से चुनाव लड़ना भी तय हो गया। पुष्कर सिंह धामी गत विधानसभा चुनाव में उधमसिंहनगर जिले की खटीमा सीट पर चुनाव लड़े थे मगर कांग्रेस के भुवन चन्द्र कापड़ी से हार गये थे। कापड़ी को 48,177 मत और धामी को 41,598 मत मिले थे।
कैलाश गहतोड़ी गत विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के हमेश खर्कवाल से 5,304 मतों से जीते थे। इससे पहले वह 2017 के चुनाव में खर्कवाल से 17,360 मतों से चुनाव जीते भाजपा प्रत्याशी की जीत में मतान्तर घटने से लगता है कि धामी के लिये यह सीट बहुत आसान भी नहीं हागी। थे। मुख्यमंत्री धामी चम्पावत से ही चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे।
गहतोड़ी का इस्तीफा कांग्रेस के लिये राहत का विषय अवश्य ही है। क्योंकि इससे पहले हरीश धामी द्वारा मुख्यमंत्री के लिये सीट छोड़ने की अटकलें भी लग रहीं थीं। धामी की बगावत में कम से कम 10 कांग्रेस विधायकों के शामिल होने की चर्चाएं भी मीडिया में सुर्खियां बटोर रहीं थीं। लेकिन न तो हरीश धामी ने सीट छोड़ी और ना ही प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कोई विद्रोह हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!