पंजाब में चनी  की ताजपोशी  के बाद अब उत्तराखंड में भी कांग्रेस का दलित कार्ड 

Spread the love

उत्तराखण्ड के परिवहन एवं समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने कांग्रेस में शामिल हो कर सत्तारूढ़ भाजपा को धीेरे से मगर जोर का झटका दे दिया है। आर्य के साथ ही उनके विधायक पुत्र संजीव आर्य ने भी भाजपा छोड़ कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। आर्य उधमसिंहनगर की बाजपुर सीट से तथा उनके पुत्र संजीव आर्य नैनीताल से भाजपा के विधायक हैं।

उत्तराखंड में लगभग 19 प्रतिशत दलित वोटर हैं।  मैदान में किसान आंदोलन का असर है। लखीमपुर खीरी की घटना ने किसानों और खास कर सिखों को बहुत नाराज कर दिया है। उनको भी बदला लेने के लिए बीजेपी का सशक्त विकल्प चाहिए, जो कांग्रेस ही है।  अल्पसंख्यकों को भी  बीजेपी की टक्कर वाली पार्टी चाहिए, जो कांग्रेस ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!