रक्षा उत्पादों की प्रदर्शनी, डेफएक्सपो 18 से 22 अक्टूबर को गांधीनगर में

Spread the love
–उषा रावत —

नयी दिल्ली, 25  सितम्बर। डेफएक्सपो का 12वां संस्करण गुजरात के गांधीनगर में 18 से 22 अक्टूबर, 2022 के बीच पहले चार-स्थल प्रारूप में आयोजित किया जा रहा है, जो जनता को शामिल करने और उन्हें एयरोस्पेस और रक्षा निर्माण क्षेत्र में भाग लेने के लिए प्रेरित करने का वादा करता है। बैठक के दौरान, रक्षा सचिव को इस द्विवार्षिक आयोजन के लिए हितधारकों द्वारा की जा रही कई व्यवस्थाओं के बारे में भी जानकारी दी गई। डॉ. अजय कुमार ने अधिकारियों से स्वदेशी रक्षा प्लेटफार्मों और उत्पादों के व्यापार और निर्यात को बढ़ावा देने पर ध्यान देने के साथ-साथ डेफएक्सपो22 की शानदार सफलता के लिए भरपूर प्रयास करने का भी आग्रह किया।

डेफएक्सपो 2022 का पहले 10 से 14 मार्च, 2022 तक आयोजन निर्धारित किया गया था जिसे उस चरण में प्रतिभागियों के सामने आने वाली लॉजिस्टिक चुनौतियों के कारण स्थगित कर दिया गया था। नई तारीखों (18 से 22 अक्टूबर, 2022) की घोषणा 08 अगस्त, 2022 को की गई थी। आगामी संस्करण विशेष रूप से भारतीय कंपनियों के लिए आयोजित होने वाला पहला संस्करण है। डेफएक्सपो 2022 के लिए, भारतीय कंपनियां, विदेशी ओईएम की भारतीय सहायक कंपनियां, भारत में पंजीकृत कंपनी का डिविजन, किसी भारतीय कंपनी के साथ संयुक्त उद्यम वाले प्रदर्शकों को भारतीय प्रतिभागी माना जाएगा।

डेफएक्सपो 2022 का विषय ‘पाथ टू प्राइड’ है और यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के भारत को एक मजबूत और आत्मनिर्भर राष्ट्र के रूप में बदलने के लिए भारतीय एयरोस्पेस और रक्षा विनिर्माण क्षेत्रों के लिए भारतीयों के साथ-साथ वैश्विक ग्राहकों के लिए साझेदारी का समर्थन, प्रदर्शन और विकास करने के विजन के अनुरूप है। इसका उद्देश्य घरेलू रक्षा उद्योग की ताकत का प्रदर्शन करना है जो अब सरकार और राष्ट्र के ‘मेक इन इंडिया, मेक फॉर द वर्ल्ड’ संकल्प को शक्ति प्रदान कर रहा है।

इसके अलावा, एक राष्ट्रीय रक्षा एमएसएमई कॉन्क्लेव और प्रदर्शनी पहली बार कोटा, (राजस्थान) में 11 से 12 सितंबर, 2022 के दौरान सफलतापूर्वक आयोजित की गई है, जिसमें लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला मुख्य अतिथि और रक्षा राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट सम्मानित अतिथि थे। भारतीय सेना द्वारा स्वदेशी प्लेटफॉर्म पर किए गए स्थिर प्रदर्शन और बॉटलैब्स द्वारा किए गए ड्रोन शो को कोटा की जनता द्वारा खूब सराहा गया।

रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग के प्रमुख पवेलियन- इंडिया पवेलियन में स्वदेशी रक्षा उत्पादों की परिपक्वता, स्टार्ट-अप्स, रक्षा में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सहित नवीनतम प्रौद्योगिकी का प्रदर्शन किया जाएगा जो 2047 के लिए भारत के विजन को प्रस्तुत करेगा। जिसका नाम ‘पाथ टू प्राइड’ रखा गया है।

डेफएक्सपो 2022 पूर्ववर्ती आयुध निर्माणियों को मिलाकर बनाई गई सात नई रक्षा कंपनियों के गठन का एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्‍य में भी आयोजित किया जा रहा है। ये सभी कम्पनियां पहली बार डेफएक्सपो में भाग लेंगी।

यह प्रदर्शनी भारत-अफ्रीका रक्षा वार्ता (आईएडीडी) के दूसरे संस्करण की मेजबानी भी करेगी, जिसमें 53 अफ्रीकी देशों को आमंत्रित किया गया है। लगभग 40 देशों की भागीदारी के साथ एक अलग हिंद महासागर क्षेत्र प्लस (आईओआर+) भी आयोजित होने वाला है। सरकार, उद्योग, उद्योग संघों, राज्यों, शिक्षाविदों, थिंक-टैंक आदि के प्रख्यात पैनलिस्टों के साथ डेफएक्सपो 2022 के सेमिनारों में गहन विचार-विमर्श किया जाएगा जिसमें इस क्षेत्र की आगामी प्रगति के लिए महत्वपूर्ण जानकारी/ टेक-अवे / कार्य बिन्दु उपलब्ध होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!