दिल्ली व पंजाब के सरकारी कार्यालयों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का चित्र फिर से लगाया जाए

Spread the love

 

अल्मोड़ा, 20 जुलाई (उहि)। उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने आज आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवत सिंह मान को ज्ञापन भेजकर पंजाब व दिल्ली सरकार के कार्यालयों से हटाए गए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र को वापस सरकारी कार्यालयों में स्थापित करने की मांग की।

इस मौके पर उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी.सी. तिवारी ने कहा की एक ओर देश में सुनियोजित रूप से गांधी के हत्यारों को महिमामंडित किया जा रहा है और दूसरी ओर गांधी वादी आंदोलन से उपजी आम आदमी पार्टी अकारण गांधी के चित्र को हटा रही है। जिसे देश बर्दाश्त नहीं करेगा। पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार उपपा कार्यकर्ताओं ने न्यू कलेक्ट्रेट पहुंच कर जिलाधिकारी की अनुपस्थिति में अपर जिलाधिकारी चंद्र सिंह मर्तोलिया को दिल्ली व पंजाब के मुख्यमंत्री के नाम इस आशय का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि यह इस देश का दुर्भाग्य है कि सत्य, अहिंसा व सत्याग्रह के विचार से देश व दुनिया का मार्गदर्शन करने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व स्वतंत्रता संग्राम के नायकों के खिलाफ बदनीयती से अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान उपपा नेताओं ने कहा की देश कांग्रेस व भाजपा के राजनीतिक विकल्प की चाह रखने वाली आम आदमी पार्टी का गांधी जी के चित्र को सरकारी कारणों से हटाने के निर्णय को उचित नहीं कहा जा सकता।

उपपा नेताओं ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि आप किन्हीं कारणों से लिए गए अपने इस निर्णय में सुधार करेगी। उपपा ने तमाम सामाजिक, राजनीतिक संगठनों, आम नागरिकों से गांधी जी की फोटो को पुनः स्थापित करने के प्रयास करने का आग्रह किया। ज्ञापन देने वालों में उपपा की केंद्रीय सचिव श्रीमती आनंदी वर्मा, नगर अध्यक्ष श्रीमती हीरा देवी, चंपा सुयाल, धीरेंद्र मोहन पंत, एडवोकेट मनोज पंत, एडवोकेट नारायण राम, एडवोकेट वंदना कोहली, एडवोकेट दीवान धपोला, राज्य आंदोलनकारी कमला जोशी, उत्तराखंड छात्र संगठन की नेत्री दीक्षा सुयाल, दीपांशु पांडे, बलवंत नगरकोटी, राजू गिरी, योगेश बिष्ट, लक्ष्मी देवी, माया देवी सहित तमाम लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!