घेस में 6 साल पहले इंटर कॉलेज खुला मगर अब तक शिक्षक नहीं भेजे

Spread the love

-थराली से हरेंद्र बिष्ट–

पिंडर घाटी के सुदूरवर्ती राजकीय इंटर कालेज में सुमार घेस राइका में रिक्त प्रवक्ताओं के पदों पर तैनातियों की संभावना बढ़ने लगी हैं। जिससे घेस गांवों के छात्रों के साथ ही अभिभावकों में उत्साह का संचार होने लगा हैं।

दरअसल 2016 में घेस घाटी के चार गांव घेस,हिमनी,बलांण एवं पिनाऊ गांव के छात्रों विशेष तौर पर क्षेत्र की गरीब तबके की छात्राओं को इंटर तक की शिक्षा देने के लिए घास में एक इंटर कालेज की स्थापना की गई। किंतु स्थापना से लेकर आज तक इस कालेज में एक भी प्रवक्ता का पद नही भरा जा सका हैं।

हालांकि पिछले शिक्षा सत्र में गेस्ट टीचर के रूप में एक प्रवक्ता तैनात किया गया हैं जबकि अन्य 4 पद रिक्त पड़े हुए हैं। इसके साथ ही एलटी स्तर पर दो अध्यापकों के साथ ही क्लेरिकल एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के पद भी रिक्त पड़े हुए हैं। प्रवक्ताओं, अध्यापकों एवं अन्य शैक्षणिक कर्मचारियों की तैनाती की मांग को लेकर थराली के विधायक भूपाल राम टम्टा के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने देहरादून में शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत से भेट कर कालेज की समस्याओं से मंत्री को रूबरू करवाते हुए उन्हें एक पत्र सौपा।जिस पर मंत्री ने घेस कालेज की जल्द ही स्थिति सुधारने का आश्वासन प्रतिनिधि मंडल को दिया। इस प्रतिनिधिमंडल में घेस गांव के वरिष्ठ पत्रकार अर्जुन बिष्ट,पीटीए अध्यक्ष राजेंद्र सिंह,हिमनी के उप प्रधान धन सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता पदम राम, बलवंत सिंह नेगी,धर्म सिंह, पुष्कर सिंह आदि सम्लित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!