स्वर्णिम विजय मशालों में से एक अपने अंतिम गंतव्य वायु सेना स्टेशन हिंडन पहुंची

Spread the love

नयी दिल्ली , 14    दिसंबर(उ हि ) ।प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा  16 दिसंबर 2020 को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक से राष्ट्रव्यापी यात्रा पर निकली चार स्वर्णिम विजय मशालों में से एक अपने अंतिम गंतव्य वायु सेना स्टेशन हिंडन पहुंच गई ।

पश्चिमी वायु कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल अमित देव और भारतीय वायु सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा एक शानदार समारोह में इस मशाल का स्वागत किया गया। 1971 के युद्ध के नायकमहावीर चक्र से सम्मानित एसीएम एसके कौल, युद्ध के दौरान 28 स्क्वाड्रन में तैनात एसीएम त्यागी, वीर चक्र से सम्मानितएयर मार्शल मंजीत एस सेखों,मरणोपरांत वीर चक्र से सम्मानित विंग कमांडर एम के जैन की पत्नी श्रीमती कमलेश जैन, शौर्य चक्र से सम्मानित स्वर्गीय स्क्वाड्रन लीडर जीके अरोड़ा की बेटी श्रीमती मनीषा अरोड़ा कपूर औरमरणोपरांत वीर चक्र से सम्मानित स्वर्गीय फ्लाइट लेफ्टिनेंट वी के वाही के भाई विक्रम वाही ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

इस अवसर पर बोलते हुए, एसीएम कौल और एयर मार्शल सेखों ने अपने व्यक्तिगत अनुभवों और युद्ध के दौरान भारतीय वायु सेना द्वारा किए गए अपार योगदान को याद किया, जिसने यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई कि युद्ध तेज और निर्णायक रहे। एओसी-इन-सी ने सभी पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया और भावी पीढ़ियों के आत्मसात करने के लिए उच्चतम सैन्य मानक स्थापित करने के लिए उनकी सराहना की ।

विजय मशाल अब राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की यात्रा करेगी जहां दिनांक 16 दिसंबर 2021 को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की शाश्वत ज्योति में इस ज्योति को मिला दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!