सचिव हयांकी ने चमोली मे योजनाओं की समीक्षा की और अधिकारियों को गुणवत्ता का ध्यान रखने के दिए निर्देश

Spread the love

गोपेश्वर, 21 जुलाई (गुसाईं) । चमोली जिले के दो दिवसीय भ्रमण पर पहुॅचे सचिव परिवहन, पेयजल उत्तराखंड शासन अरविंद सिंह हयांकी ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय में विभिन्न योजनाओं एवं विकास कार्यक्रमों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को विकास कार्यो को गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।


सचिव ने निर्देशित किया कि जिला योजना, राज्य सेक्टर एवं केन्द्र पोषित योजनाओं में विकास कार्यो के लिए स्वीकृत धनराशि का समय से सदुपयोग सुनिश्चित किया जाए। जिला योजना में धनराशि अवमुक्त होने का इंतजार न करें। स्वीकृत योजनाओं के टेंडर करते हुए शीघ्र काम पूरा करें और कार्यदायी संस्थाओं को समय से भुगतान किया जाए। ग्राम पंचायतों के लिए विलेज डेवलपमेंट प्लान पहले से तैयार किया जाए।

किसानों को कृषि यंत्र, खाद, बीज का समय से उपलब्ध कराया जाए। सड़कों पर चिन्हित सभी संवेदनशील स्थलों पर तत्काल सुरक्षात्मक कार्य किए जाए। जो सड़के अभी आरटीओ पास नही हुई है उनमें संयुक्त निरीक्षण करते हुए जो भी कमियां हैं, उनको दूर करें और सडकों को पास कराया जाए। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, पीएमईजीपी, पीएम आवास, होम स्टे की अच्छी प्रगति और नवाचारी कार्यो के तहत जिले में संचालित समर्थ गांव योजना, ई-लाइब्रेरी, सांइस लैब तथा एनआरएलएम समूहों की आजीविका सर्वद्वन हेतु किए गए कार्यो की सराहना भी की। सचिव ने कहा कि किसी भी नीति में नए सिरे से कुछ बदलाव की आवश्यकता है तो इसका सुझाव दें। विभागों में योजनाओं के क्रियान्वयन में जो छोटी छोटी आंतरिक समस्याएं है उनको दूर करें।

श्री हयांकी ने जल जीवन मिशन के तहत संचालित योजनाओं की समीक्षा भी की। उन्होंने अधिशासी अभियंताओं को निर्देशित किया कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत हर महीने का टारगेट बनाकर काम पूरा किया जाए। वन विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए वन भूमि हस्तांतरण से जुड़े मसलों का शीघ्र निस्तारण किया जाए। जिन घरों में घरेलू जल संयोजन नहीं हुआ है, उनमें एफएचटीसी का काम पूरा किया जाए और गुणवत्ता के साथ जल जीवन मिशन के सभी कार्यो को तेजी से पूरा करना सुनिश्चित करें। इस दौरान सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित समस्त विभागीय योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की गई।

इस मौके पर डीएम हिमांशु खुराना ने सचिव को जनपद में संचालित योजनाओं की प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही जनपद की प्रमुख समस्याओं एवं जरूरतों के बारे में भी अवगत कराया।

बैठक में उप वन संरक्षक सर्वेश कुमार दुबे, मुख्य विकास अधिकारी डॉ ललित नारायण मिश्र, परियोजना निदेशक आनंद सिंह, संयुक्त मजिस्ट्रेट डॉ दीपक सैनी, एसीएमओ डा.एमएस खाती सहित समस्त विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

सचिव ने तदानंतर जिला ई-पुस्तकालय का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि पुस्तकालय में युवाओं की करियर काउंसलिंग भी शुरू की जाए। इसके बाद सचिव ने कर्णप्रयाग के निकट कालेश्वर में परिवहन विभाग के निर्माणाधीन भवन एवं कार्यालय का निरीक्षण भी किया। अपने भ्रमण के पहले दिन सचिव ने चमोली में नमामि गंगे प्रोजेक्ट के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का स्थलीय निरीक्षण किया। विगत बुधवार को इस प्लांट में विद्युत करंट लगने से बड़ी जनहानि हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!