भाजपा शासन की गौचर अस्पताल पर वक्रदृष्टि -दर्जा भी घटा, डॉक्टर और स्टॉफ भी हटाया

Spread the love

गौचर से दिगपाल गुसाईं –
जनपद चमोली के गौचर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से चिकित्सक सहित तीन अन्य कर्मचारियों को सिमली महिला बेस चिकित्सालय में संबद्ध किए जाने का कांग्रेस ने घोर विरोध किया है। कांग्रेस का आरोप है यह हाल तो भाजपा के विधायक के गृह क्षेत्र का है अन्य जगहों का क्या हाल होगा समझा जा सकता है।

वर्ष 2004 में कांग्रेस शासनकाल में गौचर प्राथमिक स्वास्थ्य का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में उच्चीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री तिलक राज बेहड़ ने इसके लिए एक करोड़ 39 लाख की धनराशि भी निर्गत की थी। इस धनराशि से उच्चीकरण के मानकों के अनुसार भवनों का स्ट्रक्चर खड़ा कर करना शुरू कर दिया था। इसके बाद भाजपा की सरकार आने के बाद निर्माणाधीन चिकित्सालय के भवन खंडर में तब्दील हो गए थे। तब गौचर निवासी अनिल नौटियाल विधायक थे।

वर्ष 2014 में पुनः कांग्रेस की सरकार बनने के बाद कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में 22 साल बाद पहली बार कांग्रेस की वापसी हुई और डा0 अनसुया गैरोला मैखुरी के विधायक बनने के बाद पुनः इन भवनों का निर्माण कार्य पूरा करवाया जा सका। हालांकि मानकों के आड़े आने की वजह से कांग्रेस के शासनकाल में भी इस चिकित्सालय के उच्चीकरण का शासनादेश जारी नहीं हो सका। तब भाजपा के लोग उच्चीकरण की मांग को लेकर कांग्रेस को समय समय पर घेरते रहे।

2017 में भाजपा की सरकार बनी तो कर्णप्रयाग विधानसभा से भाजपा विधायक के रूप में सुरेंद्र सिंह नेगी चुने गए उनके शासनकाल में गौचर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का दर्जा घटाकर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने का काम किया गया।

2022 में हुए विधानसभा के चुनाव में क्षेत्र की जनता ने कर्णप्रयाग विधानसभा की कमान गौचर निवासी अनिल नौटियाल के हाथों सौंप दी है। अब उनके गृह क्षेत्र गौचर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से एक चिकित्सक, एक स्टाफ नर्स, एक वार्ड ब्वाय, के अलावा एक मात्र सफाई कर्मचारी को सिमली महिला बेस चिकित्सालय में संबद्ध कर गौचर के चिकित्सालय को विकलांग बनाने का काम किया है।

कांग्रेस प्रदेश सचिव मुकेश नेगी , नगर अध्यक्ष सुनील पंवार आदि ने गौचर चिकित्सालय के चिकित्सक सहित अन्य कर्मचारियों को सिमली बेस चिकित्सालय में संबद्ध किए जाने का घोर विरोध किया है। इन लोगों का कहना था कि सिमली महिला बेस चिकित्सालय में नए चिकित्सकों की तैनाती की जाती तो अच्छा होता लेकिन उन्ही चिकित्सकों व कर्मचारियों को इधर से उधर कर भाजपा जनता के आंखों में धूल झोंकने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कांग्रेस सिमली हो या गौचर सहित अन्य चिकित्सालयों में चिकित्सकों व अन्य कर्मचारियों की मांग को लेकर आंदोलन चलाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!