बदरीनाथ – केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष ने कहा कांग्रेसियों को ज्ञान नहीं है

Spread the love

 

देहरादून 8 जुलाई (उहि)। बदरीनाथ – केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) के अध्यक्ष अजेंद् अजय ने उनके द्वारा श्री केदारनाथ तथा श्री बदरीनाथ धामों से जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्य सचिव समेत अन्य अधिकारियों को पत्र लिखे जाने पर कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रिया को उनकी अज्ञानता बताया है। उन्होंने कांग्रेस के इन आरोपों को तथ्यों से परे बताया है, जिसमें उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा केदारनाथ मंदिर के स्वरुप में छेड़छाड़ की बात कही गयी है।

अजेंद्र ने कहा की कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा को बयान देने से पूर्व तथ्यों की जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल गाँधी की तर्ज पर उनके प्रादेशिक नेता भी तथ्यहीन और बेसिर – पैर की बयानबाजी करने को उतारू हैं। उन्होंने कहा कि माहरा को अपना ज्ञान बढ़ाना चाहिए कि वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के अनुरूप दिव्य व भव्य केदारपुरी व बदरीपुरी के निर्माण के लिए मास्टर प्लान के तहत निर्माण कार्य संचालित हो रहे हैं। दोनों धामों में किसी भी प्रकार के निर्माण अथवा मरम्मत के नाम पर अगर एक कील भी ठोकनी हो तो उसके लिए प्रदेश सरकार अथवा शासन से अनुमति लेनी होती है। उन्होंने कहा कि मंदिर समिति के अध्यक्ष के रूप में दोनों धामों में उन्हें जो भी कार्य करवाने की आवश्यकता महसूस होती है, उसके लिए वो संबंधित अधिकारियों को पत्र लिखते हैं अथवा दूरभाष पर बात करते हैं।

बीकेटीसी अध्यक्ष ने तंज कसते हुए कहा कि यदि धामों में यात्रियों की सुविधा के लिए क्लॉक रूम का निर्माण कराया जाना है अथवा श्री केदारनाथ मंदिर की बॉउंड्री वाल, प्रवेश द्वार आदि तो, इसकी अनुमति के लिए शासन को पत्र लिखे जाने में कांग्रेस को आपत्ति क्यों है ? क्या इसके लिए कांग्रेस नेताओं को पत्र लिखें ?

अजेंद्र ने कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा केदारनाथ मंदिर के साथ छेड़छाड़ किए जाने संबंधी आरोप को बेतुका बताया और मंदिरों की शैली को लेकर उनके बयान को जबरन ज्ञान बखारने वाला बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के विजन के अनुरूप नई केदारपुरी के पुनर्निर्माण के लिए अब तक वहां पर कई अभूतपूर्व काम हो चुके हैं और उसके बाद से लाखों लोग केदारपुरी की यात्रा कर चुके हैं। सिवाय कांग्रेस अध्यक्ष माहरा के अलावा किसी अन्य एक भी व्यक्ति को केदारनाथ मंदिर के साथ छेड़छाड़ नहीं दिखी है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को मूर्त रूप देने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पुनर्निर्माण कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। दोनों धामों में निर्माण कार्यों में स्थानीय लोगों, हक़ – हकूकधारियों, जन प्रतिनिधियों, पुरातत्व व अन्य क्षेत्रों के विषेशज्ञों की राय ली जा रही है। धामों के पौराणिक, धार्मिक महत्व, परंपराओं, संस्कृति आदि का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। कांग्रेस नेताओं को प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद व आभार प्रकट करना चाहिए कि उनके प्रयासों से आपदा में बुरी तरह से तहस – नहस हो चुकी केदारपुरी आज नए स्वरुप में आ गई है। इसी का परिणाम है कि आज लाखों की संख्या में देश – विदेश के तीर्थयात्री केदारनाथ की यात्रा कर रहे हैं।

बीकेटीसी अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों को लेकर वैसे भी कुछ बोलने का अधिकार नहीं है। केदारनाथ आपदा के समय कांग्रेस सरकार ने किस प्रकार के घोटाले किये ये सारी दुनिया ने देखा है। केदारनाथ धाम तक में पुनर्निर्माण कार्यों में घोटाले किये गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!