सुरम्य वादियों और मखमली बुग्यालों का लुत्फ़ उठाने आयी बिहार के अफसरों की टोली साथी की मौत के बाद निराश लौटी

Spread the love

–थराली/देवाल से हरेंद्र बिष्ट —

बड़े उत्साह के साथ उत्तराखंड के सुरम्य वादियों एवं मखमली बुग्यालों का लुत्फ उठाने पहुंच बिहार के पीसीसी कैडर के एक युवा अधिकारी की बगजी ट्रेक पर हार्ट अटैक के कारण हुए आकस्मिक निधन के बाद ट्रेकर दल के अन्य अधिकारी भी दुखी मन से ट्रेक को आधे में ही छोड़ कर बुधवार की देर सांय घेस से होते हुए रात को ही देवाल लौट आए हैं।

घेस में बिहार के पीसीएस ऑफिसरों के लिए ठहरने के लिए लगें टेंट।

दरअसल बुधवार की सुबह देवाल विकासखंड के अंतर्गत घेस के बगजी बुग्याल ट्रेक पर ट्रेकिंग करने आए बिहार कैडर के युवा पीसीएस अफसर की हार्ट अटैक के कारण आकस्मिक निधन हो गया है। पीएचसी देवाल के प्रभारी चिकित्सक डॉ शहजाद अली ने अफसर विवेक कुमार का चैकअप करने के बाद मृत घोषित कर दिया था। उसके बाद पुलिस प्रशासन के द्वारा आनन-फानन में मृत युवाधिकारी का पोस्टमार्टम करने के साथ ही अन्य व्यवस्थाओं में जुट गया। इधर 35 सदस्यीय दल में से 34 अधिकारी बगजी बुग्याल के आसपास ही ठहरें हुए थे। जैसे ही उन्हें अपने साथ की मौत का दोपहर बाद पता चला तों वें दुखी हो उठे एवं ट्रेक को आधे में छोड़ कर बगजी से वापस लौट पड़े।देर सांय घेस,हिमनी के वन आरक्षी बलवीर सिंह बिष्ट एवं राकेश गुसाईं ने बताया कि बगजी से बिहार के आफिसरों का दल देर सांय घेस स्थित वन विभाग के बंगले में पहुंचा और यहां पर वन विभाग के द्वारा उनके रूकने की व्यवस्था होने के बावजूद दुःखी दल सीधे देवाल लौट आया।वन विभाग के आरक्षी बलवीर ने बताया कि इस दल को 19 नवंबर को बुग्यालों से लौट कर हिमनी गांव आना था और 20 को दल को आगे बढ़ना था। किंतु बगजी ट्रेक पर जाने के दूसरे दिन ही अपने साथ आफिसर के साथ हुए हादसे से दुःखी होकर 4 दिन पहले ही ट्रेक से अन्य अधिकारी भी लौट गए हैं। इधर इस दल के वाहन चालक विरेन्द्र सिंह एवं बलवंत सिंह से संपर्क कर उन्होंने बताया कि दल के सदस्य बेहद दुखी हैं। बुधवार को देर रात दल लोहाजंग पहुंचा। जहां पर रात्रि विश्राम किया। वृहस्पतिवार को दल बिहार जाने के लिए करीब 12 बजें थराली से ऋषिकेश के लिए रवाना हो गया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!