नंदानगर ब्लॉक को पिछड़ा क्षेत्र घोषित करने की मांग पर जनप्रतिनिधियों ने दिया जोर

Spread the love
  1. डिमांडक्षेत्र पंचायत की त्रैमासिक बैठक में उठे जनहित के कई मुद्दे

गोपेश्वर, 3 जुलाई (उहि)। नंदा नगर में क्षेत्र पंचायत की त्रैमासिक बैठक क्षेत्र पंचायत प्रमुख भारती देवी फरस्वांण की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में क्षेत्र प्रमुख द्वारा प्रमुखता से नंदा नगर को पिछड़ा क्षेत्र घोषित करने का प्रस्ताव रखा गया, जिसे सदन ने ध्वनि मत से पारित किया है।

इस बैठक में सर्वप्रथम शिक्षा के मुद्दे पर बात हुई, जिसमें प्रधान संगठन के अध्यक्ष लखपत सिंह नेगी द्वारा राजकीय इंटर कॉलेज चौनघाट में शिक्षकों की मांग उठाई गई। प्रधान चाका नरेंद्र सिंह खत्री ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय चाका भवन का मुद्दा उठाया। इसी बीच राजकीय जूनियर हाई स्कूल कुमजुग और राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुमजुग के एकीकरण करने की मांग क्षेत्र पंचायत सदस्य कुमजुग दीपक रतूड़ी व जिला पंचायत सदस्य नंदिता रावत ने पुरजोर तरीके से उठाई।

इसके पश्चात बाल विकास पर चर्चा हुई। प्रधान गेरी उमेद पवार द्वारा आंगनबाड़ी में बच्चों को निम्न गुणवत्ता का भोजन देने की बात उठाई गई। प्रधान ल्वाणी गजेंद्र नेगी द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों पर साप्ताहिक मीनू लगाने की बात कही गई। तत्पश्चात सभी जनप्रतिनिधियों द्वारा लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएसवाई व स्वास्थ्य विभाग से संबंधित अपने-अपने क्षेत्रों के सड़कों व स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे उठाए गए। बैठक में तहसीलदार चमोली के साथ ही सभी विभागों के विभागाध्यक्ष अथवा उनके प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बैठक में क्षेत्र पंचायत सदस्य उत्तरा देवी, हीरा देवी, शांता देवी, सीमा देवी, ममता देवी, सती देवी, अनिल बिष्ट, जेष्ठ प्रमुख अब्बल सिंह कठैत, कनिष्ठ प्रमुख भरत सिंह नेगी, क्षेत्र पंचायत संगठन के अध्यक्ष सोहन सिंह नेगी, हरीश चंद्र, दीपक रतूड़ी, हरीश रावत, भोपाल सिंह, राखी देवी व प्रधान में से सुमेर सिंह, प्रभात पुरोहित, उमा देवी, रोशनी देवी, दीपा देवी, भागवत सिंह बिष्ट, सूरज सिंह पवार, शांता देवी, सरस्वती देवी, महावीर सिंह बिष्ट, मनीषा कठैत, लक्ष्मण सिंह, रेखा देवी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!