कर्ण भूमि किसान संगठन ने किसानी को लाभकारी बनाने पर चर्चा की

Spread the love

गोपेश्वर,8 मई(एम एस गुसाईं)।
कणभूमि किसान उत्पाद सहकारिता संगठन कर्णप्रयाग की एक बैठक में संगठन के क्रियाकलापों को बढ़ावा देने की रणनीति पर चर्चा की गई।
सुखतोली गाव के पंचायत घर में आयोजित बैठक में हिमाद के सचिव उमाशंकर विष्ट ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से डेरी व्यवसाय से पहाड़ी कृषि उत्पादों का उत्पादन पैकेटिंग एवं विपणन सुनिश्चित किया जायेगा। बताया कि कनखुल नौटी एवं सोनला कलस्टर के गांवो मे उत्पादक समूहों के सदस्यों के साथ मिलकर लधु डेरी व्यवसाय को विकसित किये जायेंगे, जिसमें हिमाद हिमोथान एवं टाटा ट्रस्ट संगठनों को सहकारिता की तकनीकी सहयोग देगी। उन्होंने सहकारिता के पदाधिकारियों के साथ मिलकर वार्षिकक कार्य योजना का निर्माण किया जाएगा। जिसमें मुख्य रूप से दूध कृषि उत्पादनो का संग्रहण एव विपणन संग्रहण सामुदायिक सूचना केन्द्र के लिए रोड मैप तैयार किया जा रहा हैं। उन्होंने हिमाद हिमोथान द्वारा संचालित परियोजना की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में हिमाद के मिशन के समन्वयक नवीन बिष्ट ने गांवों में जैविक दालों को बढ़ावा देने की अपील करते हुए कहा कि इससे किसानों को भारी आर्थिक लाभ मिलेगा। बैठक में सहकारिता की सचिव भागेशवरी देवी ने सहकारिता के विकास में सदस्यों की सक्रियता की अपील की । इस बैठक मे सहकारिता की कोषाध्यक्ष लीला देवी, आशा देवी, अनीता देवी कमला देवी पार्वती देवी,सुलोचना देवी, हिमाद की काजल रावत, हेमा देवी, संदीप चौहान, चाइल्ड हेल्प लाईन हिमाद समिति के टीम सदस्य पंकज पुरोहित आदि ने विचार व्यक्त किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!