गढ़वाल कमिश्नर ने बद्रीनाथ में यात्रा व्यवस्था का जायजा लिया, मास्टर प्लान की प्रगति की समीक्षा भी की।

Spread the love

गोपेश्वर, 10 मई(उहि)।
गढ़वाल कमिश्नर सुशील कुमार ने मंगलवार को बद्रीनाथ धाम पहुंचे कर धाम की व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए मास्टर प्लान के अंर्तगत कराए जा रहे प्रथम चरण के निर्माण कार्यो का स्थलीय निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर कमिश्नर ने संतुष्टि भी जाहिर की।

कमिश्नर ने गढ़वाल विकास निगम में यात्रा से जुड़े अधिकारियों की बैठक भी ली। मंडलायुक्त ने सभी विभागों को आपसी समन्वय स्थापित कर ,चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं को सुचारू रखने के निर्देश दिए। विभागवार समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त ने बताया कि इस समय यात्रा बेहद सुखद चल रही है। चार धामों में अब तक दो लाख से अधिक श्रद्धालु आ चुके है।

चारधाम में आने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया गया। उन्होंने पर्यटन अधिकारी को निर्देशित किया कि यात्रियों की सुविधा के लिये गौचर, मंडल,पांडुकेश्वर में रजिस्ट्रेशन केंद्र तत्काल बनाया जाय ताकि यात्रियों को यह सुविधा मिल सकें। साथ ही रजिस्ट्रेशन केंद्र के अधिक प्रचार प्रसार करने हेतु पुलिस चेक पोस्ट के पास रजिस्ट्रेशन को लेकर फ्लेक्स,होर्डिंग लगाने को कहा। यात्रियों को रजिस्ट्रेशन हेतु मोबाइल पोर्टल की भी जानकारी दी जाय। इस हेतु होटेलियर्स के साथ बैठक कर जानकारी साझा करने को कहा। ताकि यात्रियों का रजिस्ट्रेशन समय से हो सकें।कर्मिशयल वाहनों का भी अनिवार्य रूप से रजिस्ट्रेशन कराने के निर्देश दिये। एआरटीओ को निर्देशित किया गया हर दिन वाहनों का रजिस्ट्रेशन की सूचना जिलाधिकारी व एसपी को देना सुनिश्चित करें। मुख्य यात्रा पड़ाव पर यात्रियो की संख्या बढ़ने पर अतिरिक्त पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। पार्किंग स्थल पर शौचालय,पानी,लाइट और खाने पीने की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिए। यात्रियों की अधिक संख्या बढ़ने पर धाम परिसर में भीड़ नियंत्रण के पुख्ता इंतजाम किए जाए। यात्रा मार्ग पर विद्युत सुचारू रखी जाय। मौसम के प्रतिकूल होने पर बिजली की लाइनों को कम समय मे ठीक करने के लिए कुशल कार्मिकों की यथा समय डिवीजनों में तैनाती रखी जाए।
पेयजल विभाग की समीक्षा करते हुए कमिश्नर ने पाइप लाइनों को सुदृढ़ रखने के निर्देश दिए। ताकि यात्रियों को यात्रा पड़ाव पर कोई परेशानी न हो सकें। सुलभ शौचालय बढ़ाने के निर्देश दिए। शौचालय का रख रखाव के साथ ही पानी की व्यवस्था परस्पर रखी जाए। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए यात्रा पड़ाव पर डॉक्टर्स व स्टाफ की पर्याप्त तैनाती के साथ ही जीवन रक्षक दवाई,एम्बुलेंस की तैनाती यथा समय रखने के निर्देश दिए।
उसके उपरांत मंडलायुक्त ने बद्रीनाथ में मास्टर प्लान के तहत निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। कार्यदायी संस्थाओं को युद्ध स्तर पर निर्माण कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। तथा मजदूरों की संख्या औऱ बढ़ाने के निर्देश दिए ताकि निर्माण कार्यों में तेजी लाई जा सकें। इससे पूर्व मंडलायुक्त ने भगवान बद्रीविशाल के दर्शन किए तथा प्रदेश की खुशहाली की कामना की।इस अवसर जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने बद्रीनाथ मास्टर प्लान के अन्तर्गत चालू निर्माण कार्यों के बारे मंडलायुक्त को विस्तार से जानकारी दी। डीएम ने बताया कि मास्टर प्लान के तहत पहले चरण में बद्रीश व शेषनेत्र झील का एकत्रीकरण व विकास कार्य,रीवर फ्रन्ट डेवलमेंट,एराइवल प्लाजा, सिविक एमिनिटी सेंटर,बाईपास सड़क,अस्पताल का विस्तारीकरण सहित अन्य निर्माण कार्य चालू है। चारधाम यात्रा में यात्रियों की संख्या बढ़ने पर पुख्ता इंतेजाम किये गए है। गौचर व सेमलडाला में अतिरिक्त पार्किंग चिन्हित कर ली गई। बद्रीनाथ धाम में आने वाले यात्रियों को मेडिकल एडवाइजरी की फ्लेक्सी लगाने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए। इस बैठक में एसपी श्वेता चौबे,संयुक्त मजिस्ट्रेट डॉ दीपक सैनी,अपर जिलाधिकारी अभिषेक त्रिपाठी, जिला पर्यटन अधिकारी सोबत सिंह राणा, एसीएमओ डॉ वीपी सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!