टीएमयू एफओईसीएस की छात्राएं जॉब में अव्वल

Spread the love

हैप्पी न्यूज़: क्लाउड एनालोजी में 22 छात्राओं का हुआ प्लेसमेंट तो 15 छात्रों ने भी पाई नौकरी

ख़ास बातें :-

  • बीटेक-सीएसई, बीटेक-ईसी प्रोग्राम्स के छात्र-छात्राएं प्लेसमेंट में शुमार
  • बीएससी ऑनर्स-सीएस, बीसीए और एमसीए के स्टुडेंट्स भी शामिल
  • प्रो. राकेश कुमार द्विवेदी बोले, वैश्विक तकनीक बदलाव पर पैनी नज़र

 

प्रो. श्याम सुंदर भाटिया

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग एंड कम्प्यूटिंग साइंसेज-एफओईसीएस की छात्राएं जॉब पाने में अव्वल रही हैं। बीएससी-ऑनर्स सीएस, बीटेक-सीएसई एंड ईसी, बीसीए और एमसीए के 37 छात्र-छात्राओं का चयन जानी-मानी कम्पनी क्लाउड एनालोजी में हुआ है। चयन होने वालों में 22 छात्राएं और 15 छात्र शामिल है। एफओईसीएस के निदेशक प्रो. राकेश कुमार द्विवेदी कहते हैं, हम स्टडी के संग-संग छात्रों को गहन तकनीकी प्रशिक्षण भी देते हैं। इस दौरान देश की जानी-मानी उद्योग जगत की हस्तियां कैंपस का विजिट करती हैं। वैश्विक तकनीकी बदलाव पर हमारी पैनी नजर रहती है। टेक्नोलॉजी एडवांसमेंट्स में अनमोल सहयोग के लिए हमारी विजनरी लीडरशिप साधुवाद की पात्र है। हमारे पास अति आधुनिक लैब्स हैं। साथ ही हम दुनिया में तकनीकी बदलाव के प्रति संजीदा हैं। बाजार की जरूरतों के मुताबिक समय-समय पर हम अपने कोर्स को अपडेट भी करते रहते हैं। इसी के मुताबिक हम अपने छात्रों को ढालते हैं। चयनित होने वालों में आफरीन अय्यूब, आयुशी जैन, दीपान्शी जैन, अतिश्य जैन, बलजीत सिंह, खुशी छगरिया, इतिका जैन, जान्वी सक्सेना, कु. पूर्णिमा, मनीष सैनी, नीतू शर्मा, प्रशान्त शर्मा, सैजल जैन, शान्तनु अग्रवाल, पीयूष शर्मा, सिद्धार्थ आदि शुमार हैं। प्रो. द्विवेदी ने चयनित स्टुडेंट्स को हार्दिक बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

निदेशक प्रो. द्विवेदी कहते हैं, हमारे स्टुडेंट्स को कैंपस में ही हमेशा प्रतिस्पर्धी माहौल मिल जाता है। उन्होंने स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन, हैकर रैंक, गीक फॉर गीक्स चैलेंज, हैकर अर्थ, किक स्टार्ट गूगल कोडिंग चैलेंज, टॉप कॉडर सरीखी बड़ी तकनीकी गतिविधियों का जिक्र करते हुए कहा, ये राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिताएं स्टुडेंट्स के करियर में मील का पत्थर साबित होती हैं। बीटेक सीएस को-आर्डिनेटर श्री रूपल गुप्ता और ह्यूमैनिटीज् डिपार्टमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. संदीप वर्मा कहते हैं, प्लेसमेंट के लिए न केवल हम शॉर्ट टर्म कोर्सेज कराते हैं बल्कि टाइम टू टाइम इंडस्ट्रियल विजिट भी कराते हैं। टीचिंग लर्निंग प्रोसेस को हमने प्रोजेक्ट बेस्ड लर्निंग के साथ डिजाइन किया हुआ है। असिस्टेंट डायरेक्टर प्लेसमेंट एवम् ट्रेनिंग श्री विक्रम रैना कहते हैं, प्लेसमेंट में ये सभी स्टेप्स हमारे छात्र-छात्राओं के लिए वरदान साबित हो रहे हैं, जबकि डॉ. वर्मा बताते हैं, स्टुडेंट्स की एम्प्लॉयबिलिटी स्किल्स विकसित करने के लिए ह्यूमैनिटीज् की मुकम्मल अनुभवी टीम समर्पित है। यह टीम इंग्लिश कम्युनिकेशन के साथ-साथ स्टुडेंट्स के व्यक्तित्व विकास- प्रेजेंटेशन स्किल्स, इंटरव्यू स्किल्स, जीडी इत्यादि के प्रशिक्षण के प्रति भी संजीदा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!