प्रधान पति पर ग्रामीणों को डराने धमकाने का आरोप, निदेशक पंचायती राज से शिकायत

Spread the love

–थराली से हरेंद्र बिष्ट–

इस विकासखंड के सुदूरवर्ती ग्राम पंचायत रूईसाण के प्रधानपति पर अनावश्यक रूप से पंचायत के कार्यों में हस्तक्षेप करने, अपने अनुसार पंचायत के कार्यों का संचालन करने एवं ग्रामीणों को डराने-धमकाने का आरोप लगाया हैं। इस संबंध में गांव की एक महिला ने निदेशक पंचायती राज एवं जिलाधिकारी सहित तमाम अन्य अधिकारियों को एक पत्र भेज कर इस संबंध में जांच कर कानूनी कार्रवाई की मांग की हैं।


रूईसाण गांव की पर्वती देवी सोलियाल ने निदेशक पंचायती राज विभाग देहरादून, जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी चमोली सहित अन्य अधिकारियों को भेजे एक पत्र में कहा हैं कि रूईसाण गांव में वर्तमान में महिला प्रधान कार्यरत हैं। किन्तु प्रधान के साथ पर उसके पति दिग्पाल सिंह राणा के द्वारा ही पंचायतों के सभी कार्यों का संचालन किया जा रहा हैं।जो कि पंचायती राज एक्ट के विरूद्ध हैं।पत्र में आरोप लगाया गया है कि गांव की अधिकांश बैठकों में प्रधान के बजाय प्रधानपति के द्वारा ही अघोषित अध्यक्षता की जाती हैं। कहा हैं कि प्रधानपति द्वारा समय-समय पर गांव में अपना वर्चस्व कायम रखने के लिए ग्रामीणों पर अनावश्यक रूप से प्रशासन से मिल कर शांति भंग के तहत कार्रवाई की जाती रही हैं। कहा गया है कि विकास कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने, योजनाओं को सही तरीके से धरातल पर उतारने की मांग करने पर प्रधानपति के द्वारा गांव के उप प्रधान के साथ अभद्रता कर उल्टे उसके खिलाफ ही शांति भंग का आरोप जड़ दिया ताकि अन्य वार्ड सदस्य भी खामोश रह सकें।आरोप लगाया गया हैं कि उनके परिजनों के द्वारा भी थराली-घाट प्रस्तावित मोटर सड़क की प्रधान से जानकारी चहाने पर प्रधानपति के द्वारा उनके साथ जमकर अभद्रता की गई। पत्र में प्रधानपति पर पंचायत के कार्यों में जमकर दखल देने एवं कार्यों में गोलमाल किए जाने का आरोप लगाते हुए मामले की जांच कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई अमल में लाए जाने की मांग की गई हैं। इस संबंध में पूछे जाने पर थराली के खंड विकास अधिकारी श्रीपति लाल ने बताया कि उन्हें भी शिकायत पत्र मिला है जिस पर एडीओ पंचायत को मामले की जांच कर तत्काल रिपोर्ट देने को कहा गया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!