संयुक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर सैकड़ों किसानों, मजदूरों और महिलाओं ने रैली निकाल कर सरकार की संविधान विरोधी नीतियों की निंदा की

Spread the love

संयुक्त किसान मोर्चा का राजभवन कूच राजपुर रोड़ पर सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से राज्यपाल एवं राष्ट्रपति एवं ज्ञापन प्रेषित किया ।

–उत्तराखंड हिमालय ब्यूरो –
देहरादून 26 नवम्बर ।देहरादून संयुक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर आज सैकड़ों किसानों ,मजदूर ,महिलाओं ने गांधी पार्क के पास राजभवन के लिए कूच किया जहाँ राजपुर रोड़ पर सिटी मजिस्ट्रेट कुसुम चौहान ने राज्यपाल एवं राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन लिया ।
इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा है कि आज संविधान दिवस है, इस अवसर पर हम देश के मेहनत कश तबके को बधाई देते हैं । वक्ताओं ने सरकार की संविधान विरोधी नीतियों की कड़े शब्दों में निन्दा की ।


वक्ताओं ने कहा है कि स्वामीनाथन की सिफारिशों के अनुसार c2प्लस50℅ के आधार पर किसानों की सभी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानून बनाने के लिये भारत सरकार द्वारा एक तरफ बनाई गयी कमेटी को खत्म कर ,नयी कमेटी का गठन किया जाऐ ,जिसमें किसानों सहित संयुक्त किसान मोर्चे के सम्मान जनक प्रतिनधित्व हो जैसा भारत सरकार द्वारा आश्वासन दिया गया था ,वक्ताओं ने कहा सभी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारन्टी का कानूनी बनाया जाऐ ।


वक्ताओं ने कहा है कि किसानों के उत्पादन के साधनों के दाम बढाने और किसानों की फसलों के सही दाम न मिलने के कारण किसान आत्महत्या करने के लिये मजबूर हो रहे हैं ,वक्ताओं ने एक स्वर से किसानों के सभी त्रृण माफ करने की मांग की है ।
वक्ताओं ने मोदी सरकार द्वारा बिधुत बिल 022 वापस लेने की मांग की है ,वक्ताओं ने कहा है कि हमारे राज्य में सरकार द्वारा मनमाने ढंग से बिजली दरों में बढोतरी की निन्दा की है।वक्ताओं ने लखीमपुर खीरी में किसानों के हत्यारे गृह राज्य मन्त्री अजय मिश्रा को बर्खास्तगी तथा उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की ।
वक्ताओं ने कहा है कि सूखा ,अतिवृष्टि से खराब फसलों क समुचित मुआवजा दिया जाऐ ,वक्ताओं ने जरूरतमन्द छोटे किसानों को 5000रूपये पेन्शन देने की मांग की है ,वक्ताओं ने गन्ना किसानों को 500रूपये प्रति क्विन्टल भुगतान करने ,वक्ताओं ने जंगली जानवरों से सुरक्षा, नकरौंदा में टीरटमैन्ट प्लान्ट बन्द करने की मांग की है ।
वक्ताओं ने कहा है कि अंकिता भण्डारी हत्याकांड में लिप्त दोषियों को दण्डित करने के लिए सेवानिवृत्त न्यायाधीश से जांच की जाऐ वक्ताओं ने श्रम कानूनों में किये गये संशोधनों कै वापस लेने की जोरदार मांग की है ।अन्त में वक्ताओं ने राज्य में भूमाफियाओं पर अंकुश लगाने की मांग की है ।
इस अवसर पर किसान सभा के सुरेंद्र सिंह सजवाण ,गंगधार नौटियाल ,शिवपप्रसाद देवली ,कमरूद्दीन ,दलजीत सिंह ,बलबीर सिंह ,पुरूषोत्तम बडोनी अमर बहादुर शाही ,किसान यूनियन एकता बल्ली सिंह चीमा ,सीटू महेन्द्र जखमोला ,लेखराज , किशनगुनियाल ,भगवन्त पयाल ,रविन्द्र नौडियाल ,ललित उप्रेती किसान संघर्ष मोर्चा ,राजेंद्र जन चेतना हरबीर कुशवाहा सर्वोदय ,विजय शंखर ,नितिन मलेठ एस एफ आई ,इन्दुनौडियाल ,दमयंती नेगी ,नुरेशा अंसारी,उमा नौटियाल जनवादी महिला समिति ,बलबीर सिंह सीविर प्लान्ट के अलावा राजेंद्र पुरोहित ,अनन्त आकाश ,इस्लाम ,जाहिद अन्जुम,दिनेश नौटियाल आदि बड़ी संख्या मे प्रदर्शनकारी शामिल थे ।

गंगाधर नौटियाल
महामंत्री. किसान सभा उत्तराखण्ड देहरादून ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!