सीमांत गांव मलारी में भोटिया जनजाति के लोगों को दी गयी पुलिस एक्ट की जानकारी

Spread the love

गोपेश्वर,11 जून (उहि)। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चमोली द्वारा शनिवार को जनपद के सीमांत गांव मलारी में अनुसूचित जनजाति के लिए विधिक सेवाएं और पुलिस संशोधन अधिनियम 2018 विषय पर विधिक जागरूकता एवम साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चमोली के सचिव श्रीमती सिमरनजीत कौर की अध्यक्षता में आयोजित इस शिविर में सी.ओ. नताशा के साथ ही सिविल जज (जु. डी.)/अध्यक्ष तहसील विधिक सेवा समिति जोशीमठ एवम तहसीलदार/सचिव तहसील विधिक सेवा समिति जोशीमठ उपस्थित रहे।

विधिक शिविर में लगभग 150 अनुसूचित जनजाति के लोगो द्वारा प्रतिभाग किया गया। जिन्हें उनके अधिकारों के बारे में जानकारी दी गई। शिविर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाइयों का वितरण किया गया। शिविर के आयोजन में लोनिवि, मलारी एवं नीति घाटी के वासिंदो का विशेष सहयोग रहा। सीमांत के वासिंदो ने क्षेत्र में दूर संचार की समस्या प्रमुखता से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव के समक्ष रखी। इसके अलावा शिविर में समाज कल्याण, उद्यान, सिंचाई, पशुपालन, राजस्व, कृषि, पुलिस विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!