दूरसंचार कंपनियों की मोबाइल सेवाएँ पटरी से उतरी, उपभोक्ता परेशान

Spread the love

-गौचर से दिगपाल गुसाईं

लंबे समय से दूरसंचार कंपनियों की मोबाइल सेवा पटरी से उतरी हुई नजर आ रही है। इससे उपभोक्ताओं को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सूचना क्रांति के इस युग में भी दूरसंचार कंपनियों की मोबाइल सेवा पूरी तरह लड़खड़ाती नजर आ रही है। इस बात का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि उपभोक्ताओं को नेटवर्क की रेंज में आने के लिए घरों से बाहर निकलना पड़ता है। एयरटेल व भारत संचार निगम की मोबाइल सेवाओं का आलम यह कि घंटों मिलाने पर भी उपभोक्ता एक दूसरे से बात नहीं कर पा रहे हैं। संयोगवश फोन मिल भी जाए तो आवाज सुनाई ही नहीं देती भी है। वीडियो काल तो सपने जैसी बात हो गई है।

इससे उपभोक्ताओं की जेब बेवजह ढीली हो रही है। उपभोक्ताओं के सामने परेशानी इस बात की है कि यहां भारत संचार निगम के अलावा किसी भी अन्य संचार कंपनी का कार्यालय नहीं है जहां वे अपनी शिकायत कर सकें। भारत संचार निगम लिमिटेड का कार्यालय कर्णप्रयाग में तो है लेकिन वहां भी कोई सुनने वाला नहीं है।

एयरटेल कंपनी का तो ज्यादा बुरा हाल है। ताजुब इस बात का है राष्ट्रीय राजमार्ग पर बसे गौचर पालिका क्षेत्र में भी इस कंपनी की मोबाइल सेवा ठीक से काम नहीं कर पा रही है। बेहतर सेवा का दावा करने वाली ये कंपनियां अभी तक पालिका क्षेत्र के गांवों तक अपनी पहुंच ठीक से नहीं बना पाई हैं। इससे गांवों में रहने वाले उपभोक्ताओं को फोन से बात करने के लिए घरों से बाहर निकलना पड़ रहा है। उपभोक्ता मुकेश नेगी,अजय भंडारी, सुनील पंवार, जयकृत बिष्ट, नवीन टाकुली, आनंद बिष्ट, व्यापार संघ अध्यक्ष राकेश लिंगवाल, महामंत्री भूपेंद्र बिष्ट आदि का कहना है कि मोबाइल कंपनियों को उपभोक्ताओं को बेहतर सेवा देनी चाहिए ऐसा न करने पर उपभोक्ता आंदोलन की राह भी पकड़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!