मोहन प्रकाश ने कहा विधानसभा चुनाव में मोदी और धामी दोनों फेल हो जायंगे

Spread the love

देहरादून 18 जनवरी । अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव व उत्तराखण्ड कांग्रेस के मुख्य चुनाव पर्यवेक्षक मोहन प्रकाश ने भाजपा पर राजनीतिक शुचिता समाप्त करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज भाजपा की पहचान धन बल से जनादेश को अपमानित करने वाले दल के रूप में हो गई है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में होने वाले विधानसभा चुनाव में मोदी और धामी दोनों फेल हो जायंगे औए राज्य में पूर्ण बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनेगी।
प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से एक अनौपचारिक बातचीत में मोहन प्रकाश ने कहा कि पूर्व में हुए विधानसभा चुनावों में मणिपुर, गोवा आदि राज्यों में कांग्रेस को बहुमत मिला, लेकिन धन बल का सहारा लेकर भाजपा ने लोकतंत्र को कुचलने का काम किया। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में भी 2016 में कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश और सरकार को भंग करने का घिनौना षड्यंत्र कर लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास किया जिसे पूरे देश ने देखा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश में तानाशाही का माहौल पैदा कर दिया है। राजनीतिक शुचिता का दावा करने वाले देश की संसद में भी जबावदेह नहीं है। कृषि बिल,  बेरोजगारी व मंहगाई पर चर्चा तक नहीं होती। प्रधानमंत्री व भाजपा शासित  राज्यों के मुख्यमंत्री एक भी शब्द नहीं बोलते। कांग्रेस के शासनकाल में भी मंहगाई बढ़ी, लेकिन तब सरकार हस्तक्षेप कर मंहगाई को कंट्रोल कर लेती थीं। आज भाजपा सरकारों ने देश के लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया है।
उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में मोदी सरकार कहीं नहीं दिखी जबकि कांग्रेस व सामाजिक संगठन के लोग राहत कार्यों में लगे रहे। इस मामले में मोदी सरकार पर आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए। मोहन प्रकाश ने कहा कि  कोरोना संक्रमण को देखते हुए चुनाव प्रचार के  तरीकों में भी बदलाव किया जा रहा है। कांग्रेस वर्चुअल रैली की योजना शुरू कर रही है जिसकी शुरुआत राहुल गांधी के सम्बोधन से होगी। राज्य में हरीश रावत व अन्य नेता भी वर्चुवल रैली के जरिये लोगों तक अपनी बात पहुंचाएंगे। ये सिस्टम पूरे चुनाव तक रहेगा। ग्रास रुट स्तर पर कार्यकर्ताओं का नेटवर्क तैयार किया जा रहा है जो हर व्यक्ति को भाजपा सरकार की नाकामी बताए और ये भरोसा दिलाये की कांग्रेस सरकार ही जनहित के काम कर सकती है।  उन्होंने कहा कि बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया का सहयोग लिया जा रहा है ताकि हर घर और हर व्यक्ति तक भाजपा सरकार की दमनकारी नीति के दुष्प्रभावों का लेखा जोखा पहुंच सके।
मोहन प्रकाश ने भाजपा की डबल इंजन सरकार को ट्रबल सरकार ”  यानी मुसीबत वाली सरकार“ बताते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में बेरोजगारी, मंहगाई, पलायन, शिक्षा व स्वास्थ्य की ध्वस्त होती व्यवस्था तथा पर्वतीय क्षेत्र में समाप्त होती कृषि व्यवस्था आदि गंभीर मुद्दे हैं जिनके समाधान के लिए राज्य सरकार का नकारात्मक रुख रहा है। भाजपा का विकास के प्रति कोई विजन नहीं है। उसने पांच साल राज्य के संसाधनों को अपने सत्ता संघर्ष पर लगाया है और राज्य में तीन मुख्यमंत्री बदले जाने का ड्रामा करती रही। उन्हांेंने कहा कि आगामी 14 फरवरी को उत्तराखण्ड की सत्ता से भाजपा की विदाई तय है।
इस अवसर पर महासचिव संगठन मथुरादत्त जोशी ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से प्रदेश मुख्यालय पहुंचने पर मोहन प्रकाश का बुके भेंट कर गर्मजोशी से स्वागत किया। श्री मोहन प्रकाश ने प्रदेश कार्यालय में वार रूम तथा चुनावी तैयारियों का जायजा लेते हुए वहां पर उपस्थित पदाधिकारियों के साथ चुनावों पर चर्चा की।
इस अवसर पर विधायक मनोज रावत, सदस्यता अभियान समिति के अध्यक्ष राजेन्द्र भण्डारी, प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि पूर्व महामंत्री सुरेन्द्र रांगड, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, सोशल मीडिया सलाहकार अमरजीत सिंह, पौराणिक संस्कृति संवर्द्धन प्रकोष्ठ के अध्यक्ष आचार्य नरेशानन्द नौटियाल, प्रदेश सचिव शांति रावत, प्रवक्ता गरिमा दसौनी, प्रवक्ता डाॅ0 प्रतिमा सिंह, सूरत सिंह नेगी, सरोजनी कैन्तूरा, अनिल रावत, महेश जोशी, मोहन काला, सुलेमान अली, राजीव तोमर, नजमा खान, विशाल मौर्य, शूरवीर सिंह नेगी, जोत सिह रावत, रूचि कैन्तूरा आदि अनेक कांग्रेसजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!