देहरादून जिले के विधायकों की 51 प्रतिशत विधायक निधि ही हुयी खर्च

Spread the love

देहरादून, 8 फरबरी (उहि)। वर्तमान विधायकी समाप्त होने वाले अंतिम वर्ष 2021-22 मेें देहरादून जिले के 11 विधायकों की चुनाव घोषणा होने से पूर्व 31 दिसम्बर 2021 तक 52 प्रतिशत विधायक निधि खर्च हुई तथा 20 करोड़ 5 लाख 18 हजार की धनराशि शेष है जबकि प्रदेश के विधायकों की 68 प्रतिशत खर्च हुई। विधायकों में कुल 1500 कार्य स्वीकृत हुये, इसमें से दिसम्बर तक 267 कार्य ही पूरे हो सके।
काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) को उपलब्ध सूचना के अनुसार वर्ष 2021-22 में देहरादून जिले के सभी 11 विधायकों को 375 लाख प्रति विधायक कुल 4125 लाख की विधायक निधि उपलब्ध हुई है। इसमें से 31 दिसम्बर 2021 तक 2119.82 लाख की विधायक निधि खर्च हुई हैै तथा 2005.18 लाख की विधायक निधि खर्च होने का शेष है। विधायकों द्वारा जिले में कुल 1500 कार्य स्वीकृत किये गये है इसमें से केवल 267 कार्य ही पूर्ण हो सके जबकि 1243 कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों में अनुसूचित जाति के लिये कुल 17.8 प्रतिशत 267 तथा अनुसूचित जन जाति 14.6 प्रतिशत 219 कार्य शामिल हैं।
उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक विधायक निधि 77 प्रतिशत रायपुर विधायक उमेश शर्मा तथा जबकि जिले में सबसे कम 27 प्रतिशत चकराता विधायक प्रीतम सिंह की खर्च हुई हैै। अन्य विधायकों में मुन्ना सिंह की 39, खजान दास की 41, विनोद चमोली की 39, हरबंश कूपर की 49, गणेश जोशी की 61, प्रेमचन्द्र अग्रवाल की 52, त्रिवेन्द्र सिंह रावत की 54, सहदेव पुण्डीर की 65 तथा जी.आई.जी. मैन की 60 प्रतिशत विधायक निधि खर्च हुई है।
सूचना के अनुसार सर्वाधिक 254 कार्य सहसपुर विधायक सहदेव पुण्डीर द्वारा तथा सबसे कम 39 कार्य राजपुर रोड विधायक खजान दास द्वारा स्वीकृत किये गये है। अन्य विधायकों में चकराता विधायक प्रीतम सिंह द्वारा 229, विकास नगर विधायक मुन्ना सिंह चौहान द्वारा 208, धरमपुर विधायक विनोद चमोली द्वारा 68, कैन्ट विधायक हरबंश कपूर द्वारा 116 व मंूसरी विधायक गणेश जोशी द्वारा 116, रायपुर विधायक उमेश शर्मा द्वारा 103, ऋषिकेश विधायक प्रेम चन्द्र अग्रवाल द्वारा 165, डोईवाला विधायक त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा 104 तथा नामित सदस्य जी.आई.जी.मैन द्वारा 98 कार्य स्वीकृत किये गये हैं।
अनुसूचित जनजाति कल्याण का तो सभी विधायक दावा करते हैै लेकिन जिले में कुल स्वीकृत 219 अनुसूचित जनजाति के कार्यों में सर्वाधिक 184 चकराता विधायक ने तथा सबसे कम 10 राजपुर रोड विधायक ने किये है। जबकि अन्य विधायकों में 25 विकास नगर विधायक द्वारा स्वीकृत कराये गये है और किसी विधायक द्वारा कोई कार्य स्वीकृत नहीं कराये गये।
अनुसूचित जाति के जिले में कुल 267कार्योंे में से सर्वाधिक 45 चकराता विधायक तथा सबसे कम 10 धरमपुुर विधायक ने स्वीकृत कराये है जबकि जिले के अन्य विधायकों में 30 विकासनगर, 25-25 कैन्ट व रायपुर, 20-20 मंसूरी व डोईवाला तथा 22 नामित सदस्य द्वारा स्वीकृत कराये गये है। राजपुर विधायक द्वारा अनुसूचित जाति का कोई कार्य स्वीकृत नहीं कराया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!