शख्सियत: वीर प्रसूता देवभूमि के सपूत और देश का गौरव रियर एडमिरल ओम प्रकाश सिंह राणा, AVSM, VSM (से.नि.)

Spread the love

त्तराखंड के वीर सपूत और देश के गौरव रियर एडमिरल ( से नि)  ओम प्रकाश सिंह राणा ने जुलाई 1981 में भारतीय नौसेना में प्रवेश कर देश को लगभग चार दशक की सेवायें दी और अन्ततः डायरेक्टर जनरल (नौसेना आयुध निरीक्षण) के पद से 31 अगस्त 2017 को सेवानिवृत्त हुए। तत्पश्चात् ब्रह्मोस एयरोस्पेस में अपनी सेवायें दी।

एडमिरल राणा का नौसेना, भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) आयुध निर्माणियों, सरकारी तथा निजी उत्पादन संस्थानों और ब्रह्मोस में विभिन्न सामरिक तथा तकनीकी शस्त्र अन्वेषण, स्वदेशीकरण, उत्पादन, टेक्नोलॉजी ट्रान्सफर, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, ऑडिट, आयुध लाइफ साइकिल प्रबंधन आदि कार्यकारी / प्रयोगात्मक, संस्थागत प्रबंधन एवम शासन का अनुभव है, साथ ही एक अध्यापक, विभागाध्यक्ष और डायरेक्टर (नौसेना) के रूप में उन्होंने डिफेन्स इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी (डीम्ड विश्वविद्यालय) पुणे में शिक्षा प्राप्त कर रहे सेना के अधिकारियों, वैज्ञानिकों और डिफेन्स सिविलियन अधिकारियों का मार्गदर्शन भी किया।

सेवानिवृत्ति उपरांत एडमिरल राणा ने पिलानी में 220 एकड़ के अत्याधुनिक ब्रह्मोस मिसाइल उत्पादन सुविधा को सफलतापूर्वक स्थापित कर अपनी प्रतिभाओं से राष्ट्र को उत्कृष्ट सेवाएं दी।

एडमिरल राणा, पीजी कॉलेज, डिफेन्स इंस्टीटयूट ऑफ एडवांस्ड टेक मद्रास विश्वविद्यालय, मुम्बई विश्वविद्यालय, डिफेन्स सर्विसेज स्टाफ कॉलेज वेि और नौसेना सामरिक महाविद्यालय (Naval War College) के छात्र रहे हैं, जहाँ से

उन्होंने क्रमश: MSc (Maths). Technical Staff Course, PG (एयरोस्पेस) MSc (Defence & Strategic Studies) MPhil (Defence & Strategic Studies) तथा Naval Higher Command Course किये

हैं।

एडमिरल राणा की राष्ट्र के प्रति समर्पण भावना, सफल नेतृत्व और आयुध निर्माण क्षेत्र में आत्मनिर्भरता, आदि क्षेत्रों में उत्कृष्ट सेवाओं

के लिए Chief of Naval Staff और Flag Officer Commanding-in-Chief Eastern Naval Command द्वारा प्रशस्ति पत्रो तथा महामहिम राष्ट्रपति द्वारा ‘अति विशिष्ट सेवा मेडल (AVSM) तथा विशिष्ट सेवा मेडल (VSM) से सम्मानित किया गया है।

वर्तमान में एडमिरल राणा देहरादून में रहते हैं तथा सामाजिक, पर्यावरण एवम राष्ट्र कार्यों में सक्रिय हैं साथ ही ये पत्रिकाओं में लेखों तथा विश्वविद्यालयों, स्कूलों और कॉलेजों में छात्रों को एकेडेमिक्स से एप्लिकेशन सुरक्षा तकनीकी, PhD thesis review. सुरक्षा में आत्मनिर्भता, मोटिवेशन आदि विषयों पर अपने विचारों से उनका ज्ञानवर्धन करते रहते हैं।

कुछ वर्ष पहले राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त संस्था सर्वहित कल्याण सेवा समिति, मेरठ, (उत्तर प्रदेश), भारत और पर्यावरण केन्द्रित त्रैमासिक पत्रिका हरित पर्याय से सरक्षक के रूप में जुड़कर पर्यावरण संरक्षण एवं शिक्षा प्रसार के क्षेत्र में कार्य को गति प्रदान कर रहे हैं।

2 thoughts on “शख्सियत: वीर प्रसूता देवभूमि के सपूत और देश का गौरव रियर एडमिरल ओम प्रकाश सिंह राणा, AVSM, VSM (से.नि.)

  • December 10, 2022 at 4:09 am
    Permalink

    बहुत बहुत धन्यवाद उत्तराखंड हिमालय ब्यूरो।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!