अब सत्तापक्ष के नेता भी खड़े हुए उत्तराखंड स्टोन क्रेशर सुनला के खिलाफ

Spread the love

थराली से हरेंद्र बिष्ट

अब सत्ता पक्ष के नेता इस तहसील क्षेत्र के अंतर्गत स्थापित अभ्युदय उत्तराखंड स्टोन क्रेशर सुनला की कार्यप्रणाली के विरोध में आगे आए हैं। इस संबंध में बकायदा नेताओं ने उपजिलाधिकारी थराली के माध्यम से जिलाधिकारी को एक ज्ञापन भेजकर जांच कर आवश्यक कार्रवाई की मांग करते हुए तत्काल कार्रवाई नही होने पर आंदोलन की चेतावनी दी हैं।


उपजिलाधिकारी थराली के माध्यम से जिलाधिकारी चमोली को भेजें एक ज्ञापन में थराली की ब्लाक प्रमुख कविता नेगी, नारायणबगड़ के प्रमुख यशपाल सिंह नेगी, भाजपा मंडल अध्यक्ष रणजीत सिंह नेगी एवं नारायणबगड़ मंडल अध्यक्ष एमएन चंदोला ने कहा है कि ग्वालदम-कर्णप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुनला में अभ्युदय उत्तराखंड क्रेसर के नाम पर एक क्रेसर प्लांट का संचालन किया जा रहा है। जिसमें संचालक के द्वारा तमाम नियमों को ताक पर रखकर संचालन किया जा रहा है।कहा गया है कि संचालक के द्वारा भंडारण स्थल पर चार दिवारी नही की गई हैं। जिससे धूल-धक्कड़ गांवों की ओर उड़ रहा हैं। अभिलेखों का रखरखाव सही तरीके से नही किया जा रहा है।क्रेसर पर प्रर्याप्त सीसीटीवी कैमरे, धर्मकांटा, लोडिंग, अनलोडिंग के लिए प्रर्याप्त व्यवस्था नही की गई हैं। इसके साथ ही क्रेसर प्लांट का गंदा पानी सीधे पिंडर नदी में डाला जा रहा है। क्रेसर में भंडारण नियम विरुद्ध करने के साथ ही स्वीकृत क्षमता से करीब 5 गुना अधिक किया गया है। इसके अलावा भी तमाम तरह की अनियमितताएं बरती जा रही हैं। नेताओं ने जिलाधिकारी से तत्काल इस क्रेसर की जांच कर कानूनी कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि जांच नही किए जाने पर मजबूरन उन्हें आंदोलन छेड़ने पर मजबूर होना पड़ेगा। इस संबंध में पूछे जाने पर थराली के उपजिलाधिकारी रविंद्र जुवांठा ने बताया कि प्राप्त ज्ञापन को जिलाधिकारी को भेज दिया गया हैं। वें अपने स्तर से भी जरूरी कार्रवाई अमल में लाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!