क्षेत्रीय समाचार

सवाड़ में 16 वां सैनिक मेला 7 दिसंबर से ; शौर्य गाथाओं से भरा है इस गांव का इतिहास

– रिपोर्ट हरेंद्र बिष्ट –
थराली/देवाल, 4 दिसंबर। आगामी 7 दिसंबर से विकास खंड देवाल के अंतर्गत पूरे सैनिक बाहुल्य गांव में सुमार सवाड़ गांव में 16 वां 3 दिवसीय अमर शहीद सैनिक मेले में देश, राज्य एवं गांव के वीर शहीद सैनिकों को याद करते हुए उनकी शहादत को नमन किया जाएगा।

सवाड़ गांव को यूं ही सैनिक बाहुल्य गांव का दर्जा प्राप्त नही हैं। इस गांव के वीर योद्धाओं का अपने आप में एक लंबा एवं गौरवशाली इतिहास रहा है। इतिहास पर नजर डालें तो पता चलता है कि प्रथम विश्व युद्ध में अकेले सवाड़ गांव के 22 वीर योद्धाओं ने भाग लिया जिसमें से 2 ने अपनी शहादत दे कर वीरता की नींव रखनी शुरू कर दी।

इसके बाद हुए द्वितीय विश्व युद्ध में भी यहां के 38 योद्धाओं ने भाग लेते हुए दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए। पेशावर कांड में भी इस गांव के 14 सैनिकों ने अपनी सक्रिय भूमिका निभाई।

देश की आजाद की लड़ाई में भी यहां के वीर पीछे नही रहें और 17 लोगों ने स्वतंत्रता आंदोलन में अपनी अहम भूमिका निभाई। इसके बाद 1971की बंगला देश की लड़ाई में भी सवाड़ के 28 योद्धाओं ने भाग लिया जिसमें से एक वीर जवान ने अपनी शहादत भी दी और लड़ाई जीती।

इसके साथ ही पंजाब में आतंकवादियों को स्वर्ण मंदिर से मार भगाने के लिए किए गए आप्रेशन ब्लू स्टार में इस गांव के 15 सैनिकों ने भाग लिया जिसमें से एक जवान ने अपनी शहादत दी। वर्तमान में यहां पर 85 पूर्व सैनिक व सैन्य अधिकारी, 43 सैन्य विधवाएं मौजूद हैं। जबकि 128 लोग सेना में रह कर देश सेवा कर रहे हैं। भारी संख्या में इस गांव के युवाओं के द्वारा देश सेवा करने के लिए सेना में सामिल होने को पहली वरीयता दिए जाने के चलते ही इस गांव को सैनिक गांव के रूप में पहचाना मिली हैं।
——–
तीन दिवसीय शहीद मेले को सफल बनाने के लिए सवाड़ गांव में आयोजन कमेटी की एक बैठक कमेटी के अध्यक्ष आलम सिंह बिष्ट की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिसमें बताया गया कि मेले में मुख्यमंत्री सहित कई मंत्रियों, राज्य मंत्रियों,क्षेत्रीय सांसद, विधायक सहित राज नेताओं, पूर्व सैन्य आफिसरों को आमंत्रित किया गया हैं। बताया कि 7 दिसंबर को शहीद स्मारक पर रीत चढ़ाने, शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करने के साथ ही मंच पर मुख्य अतिथि द्वारा रिबन काट कर एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया जाएगा। 7 से 9 दिसंबर तक चलने वाले मेले में राज्य के प्रसिद्ध कला मंचों के साथ ही क्षेत्र के स्कूल, कालेज के छात्र-छात्राओं,महिला मंगल दलों, स्थानीय गायक, गायिकाओं के द्वारा अपनी प्रस्तुति दी जाएगी।सफल आयोजन के लिए ग्रामीणों को अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी गई।इस मौके पर समिति के उपाध्यक्ष नंदन सिंह धपोला, पूर्व सैनिक अध्यक्ष गोविंद सिंह बिष्ट,सवाड़ वार्ड की जिपंस आशा धपोला, पीजी कॉलेज देहरादून के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष दयाल बिष्ट,महावीर सिंह भंडारी, दर्शन धपोला, महिपाल बिष्ट, प्रमोद धपोला, दान सिंह धपोला, गोपाल सिंह मेहरा, इंद्र सिंह बिहारी सिंह आदि ने विचार व्यक्त किए।
——-
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से सवाड़ गांव के एक प्रतिनिधिमंडल ने थराली विधायक भूपाल राम टम्टा के नेतृत्व में राजधानी देहरादून में मुलाकात की । मेला समिति के अध्यक्ष आलम सिंह बिष्ट ने बताया कि सीएम को सवाड़ मेले में आमंत्रण पत्र देने के दौरान उनसे इस शिक्षा सत्र से सवाड़ में केंद्रीय विद्यालय का संचालन शुरू करने की मांग की जिस पर मुख्यमंत्री ने सकारात्मक कार्रवाई करने का आश्वासन प्रतिनिधिमंडल को दिया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!