वर्ष 2021 भारतीय रेलवे के लिए ‘प्रमुख परिवर्तन का वर्ष’ रहा है, अप्रैल 2019 से किसी यात्री की मृत्यु नहीं,

Spread the love

. सुरक्षा में वृद्धि

  • अप्रैल 2019 से किसी यात्री की मृत्यु नहीं
  • 2020-21 के दौरान 14 और 2019-20 के दौरान 48 की तुलना में इसी अवधि में (30.12.2021 तक) कुल 22 आनुषंगिक दुर्घटनाएं हुईं।

2. माल लदान

  • 2020-21 में 870.41 मीट्रिक टन की तुलना में 2021-22 के दौरान 31.12.2021 तक 1029.94 मीट्रिक टन माल का लदान किया गया जो इसी अवधि के दौरान किए गए लदान के मामले में (+159.53 मीट्रिक टन) +18% अधिक है।
  • वर्ष के पहले 8 महीनों में (सितंबर 20 से दिसंबर 21 तक संबंधित महीने में लगातार 16 महीने) में अब तक का सबसे अधिक लदान
  1. 1768 (93%) में से 1646 मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें, 5626 (98%) में से सब-अर्बन-5528 और 3634 (44%) में से पैसेंजर1599 ट्रेनें संचालित हो रही हैं।
  • वर्तमान में, आरक्षित यात्रियों की बुकिंग 2019-20 से अधिक है
  1. 2021-22 (31.12.2021 तक) के दौरान मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों का समयपालन 92.55 प्रतिशत है।
  2. मालभाड़ रेल गति:
  • 2020-21 (+3.23 प्रतिशत) (31.12.2021 तक) के दौरान 42.97 किमी प्रति घंटे की तुलना में 2021-22 के दौरान औसत मालगाड़ी की गति 44.36 किमी प्रति घंटे है।
  1. अवसंरचना प्रगति
  • वित्तीय वर्ष 21-22 के दौरान बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 2.15 लाख करोड़ का उच्चतम पूंजी आवंटन किया गया है। नवंबर 21 तक का खर्च 1,04,238 करोड़ रुपये (48.5 प्रतिशत) है।
  • रेलवे विद्युतीकरण प्रगति: पिछले वर्ष की अवधि के दौरान 1903 की तुलना में 30.12.2021 तक 1924 किमी रूट का विद्युतीकरण
  • नई लाइन/दोहरीकरण/गेज परिवर्तन: 30.12.2021 तक 1330.41 किलोमीटर (एनएल: 120.5 किलोमीटर जीसी: 242.3 किलोमीटर, डीएल: 967.61 किलोमीटर)
  • नवंबर, 21 तक 83 आरओबी और 338 आरयूबी
  • नवंबर, 21 तक 172 एफओबी, 48 लिफ्ट और 50 एस्केलेटर शुरू किए गए।

7गति शक्ति कार्गो टर्मिनल नीति: आईआर की माल लदाई अंशधारिता को बढ़ाने के लिए कार्गो टर्मिनलों की स्थापना में आसानी के लिए अनुमोदनों को तेजी से ट्रैक करने का शुभारंभ किया गया।

8. किसान रेल

  • पहली किसान रेल सेवा को माननीय रेल मंत्री और माननीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री द्वारा 7 अगस्त 2021 को देवलाली (महाराष्ट्र) और दानापुर (बिहार) के मध्य शुरू किया गया।
  • 100वीं किसान रेल को माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा रवाना किया गया।
  • 1806 किसान रेल लगभग 5.9 लाख टन के कृषि उत्पादों के साथ 153 मार्गों (24.12.2021 तक) पर संचालित हैं।
  1.    840 स्टेशनों (वर्ष के दौरान 47) पर सीसीटीवी लगाया गये।
  2. कुल 6089 स्टेशनों (वर्ष के दौरान 120) पर वाई-फाई की सेवा उपलब्ध कराई गई।
  3. कुशल और सुरक्षा अनुप्रयोगों के लिए आईआर पर 4जी आधारित दीर्घकालिक विकास (एलटीई) को कार्यान्वित करने के लिए 700 मेगाहर्टस में 5 मेगाहर्टस स्पेक्ट्रम आवंटित किया गया है।
  4. उपयोगकर्ता के अनुकूल नई माल ढुलाई और यात्री व्यापार खंड से संबंधित वेबसाइटें प्रारंभ की गई।
  5. ऑनलाइन और एकीकृत विक्रेता अनुमोदन प्रणाली के लिए, एकीकृत विक्रेता अनुमोदन मॉड्यूल (यूवीएएम) का भी शुभारंभ किया गया है। अनुमोदन के लिए आंतरिक प्रक्रियाओं को सरल और त्वरित बनाया गया।
  6. आरडीएसओ 24 मई 2021 को बीआईएस एसडीओ मान्यता योजना के तहत मान्यता प्रदान करने वाला भारत का पहला मानक विकास संगठन (एसडीओ) बन गया है।
  7. चिकित्सा सुविधाओं में सुधार किया गया, नई सुविधाओं का निर्माण किया गया और रेलवे अस्पतालों में मौजूदा सुविधाओं में सुधार किया गया है।
  • 78 ऑक्सीजन पैदा करने वाले संयंत्र स्थापित किए गए हैं और रेलवे अस्पतालों में कार्यान्वित हैं। 17 नए ऑक्सीजन संयंत्रों को मंजूरी दी गई है और वह चालू होने के विभिन्न चरणों में हैं।
  • 69 रेलवे अस्पताल कोविड-19 से प्रभावित रेलवे कर्मचारियों का इलाज कर रहे हैं। इन अस्पतालों में कोविड के इलाज के लिए बिस्तरों की संख्या 2539 से बढ़ाकर 3948 कर दी गई है।
  • कुल कोविड बेड बढ़कर 6972, आईसीयू बेड 273 से 404 हो गए हैं, इनवेसिव वेंटिलेटर 62 से बढ़कर 3544 हो गए हैं, अतिरिक्त 449 नॉन इनवेसिव वेंटिलेटर और 129 हाई फ्लो नेज़ल ऑक्सीजन मशीनें हैं। साथ ही 3420 ऑक्सीजन सिलेंडर, रेलवे अस्पतालों में पूरक के रूप में हैं।
  1. आईआर पर एचएमआईएस (अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली)
  • पिछले एक वर्ष में भारतीय रेलवे के 572 अस्पतालों और स्वास्थ्य इकाइयों में एचएमआईएस प्रदान किया गया है और शेष मार्च, 22 तक कवर किया जाएगा।
  • रेलवे ने अधिकांश कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों को यूएमआईडी प्रदान किया है। रेलवे चिकित्सा लाभार्थियों के लिए अब तक 42.09 लाख यूएमआईडी कार्ड तैयार किए जा चुके हैं। यूएमआईडी को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की राष्ट्रीय स्वास्थ्य आईडी से भी जोड़ा गया है।
  1. इंडियन रेलवे ने कम से कम समय में ऑक्सीजन एक्सप्रेस का संचालन करते हुए त्वरित डिलीवरी की।
  • रेलवे टैंकरों की आपूर्ति करने वाली राज्य सरकारों की मांग को पूरा करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा है।
  • रेलवे की ओर से लगभग सभी क्षेत्रों में सभी वांछित मार्ग और रेक्स तैयार किए गए थे।
  • अब तक 899 से अधिक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों ने अपनी यात्रा पूरी की है और 15 राज्यों में 36,840 टन से अधिक तरल ऑक्सीजन पहुंचाई है।
  • ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने बांग्लादेश के लिए भी (3911.41 एमटी) ऑक्सीजन का वितरण किया है।
  1. क्वारंटाइन/आइसोलेशन सुविधाओं के रूप में काम करने के लिए 4,176 कोचों का रूपांतरण: देश भर में कोविड-19 के लिए क्वारंटाइन/आइसोलेशन सुविधाओं के रूप में कार्यान्वित 4,176 ट्रेन कोचों में से 324 कोचों को दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, नगालैंड, असम और त्रिपुरा राज्यों में राज्य सरकार की मांग के अनुसार तैनात किया गया है।
  2. 30.12.2021 तक लगभग 10.97 लाख कर्मचारियों को टीके की पहली खुराक लगाई गयी और 8.38 लाख कर्मचारियों को टीके की दोनों खुराक लगाई गयी। आईआर पर 135 टीकाकरण केंद्र प्रचालन में हैं।
  3. आयुष सुविधा नई दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई और गुवाहाटी में 5 क्षेत्रीय अस्पतालों में प्रारंभ की गई है।
  4. तेजस राजधानी ट्रेन: 4 राजधानी एक्सप्रेस आनंद विहार-अगरतला, मुंबई-नई दिल्ली (2) और राजेंद्र नगर टर्मिनल (पटना)-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस आईआर पर तेजस श्रेणी के साथ संचालित हो रही हैं।
  5. उच्च क्षमता वाले एसी-3 इकोनॉमी कोच (एलडब्ल्यूएसीसीएनई): आईआर ने 10.02.2021 को एक नया कोच के रूप में हाई कैपेसिटी थर्ड एसी इकोनॉमी कोच को शामिल किया है और पिछले दो महीनों में ऐसे 33 कोचों का निर्माण किया गया है। इनके साथ, भारतीय रेल में कुल 54 एसी-III टियर इकोनॉमी कोच उपलब्ध कराए गए हैं। यात्री स्थान में वृद्धि के लिए इस कोच के डिजाइन में कई तरह की नवीन व्यवस्था को शामिल किया गया है, वर्तमान में बोर्ड पर स्थापित उच्च वोल्टेज इलेक्ट्रिक स्विचगियर को भारतीय रेलवे में पहली बार अंडर फ्रेम के नीचे स्थानांतरित किया गया है, जिससे यात्री क्षमता 11 अतिरिक्त बर्थ की बढ़ोतरी के साथ 72 से 83 बर्थ तक बढ़ गई है।
  6. भारत गौरव– थीम आधारित ट्रेनें: भारत की विशाल पर्यटन क्षमता का दोहन करने के लिए, भारतीय रेलवे ने एक नया पर्यटन उत्पाद यानी थीम आधारित पर्यटक सर्किट ट्रेन ‘भारत गौरव’ का शुभारंभ किया है।
    • इससे देश के कोने-कोने में फैले सेवा प्रदाता देश के अप्रयुक्त लेकिन ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण समृद्ध सम्पदा का प्रदर्शन करने में सक्षम होंगे
    • सेवा प्रदाता कोचों का नवीनीकरण करने में सक्षम होंगे और उन्हें इस मामले में थीम, शुल्क, आंतरिक प्रारूप और अन्य व्यावसायिक तौर-तरीकों को तय करने के लिए पूर्ण स्वतंत्रता दी गई है।
  7. राजधानी गांधीनगर (डब्ल्यूआर) और रानी कमलापति (डब्ल्यूसीआर) स्टेशन का पुनर्विकास: 16.07.2021 को कार्यान्वित किया गया गांधीनगर राजधानी स्टेशन प्रथम पुनर्विकसित स्टेशन है। रानी कमलापति दूसरा पुनर्विकसित स्टेशन है और इसे 15.11.2021 से कार्यान्वित किया गया था। दोनों स्टेशनों का उद्घाटन माननीय प्रधानमंत्री द्वारा किया गया था।
  8. ट्रेन टेलिमैट्री का समापन (ईओटीटी): पूर्वी तट और दक्षिण पूर्व रेलवे में ईओटीटी के लिए प्रूफ ऑफ कॉन्सैप्ट ट्रायल किया जा रहा है। ईसीओआर में 3 सेटों का परीक्षण किया रहा है और चरण 2 में 740 सेटों की खरीद प्रक्रियाधीन है।
  9. रोलिंग स्टॉक उत्पादन (नवंबर 21 तक):
  • विद्युत लोकोमोटिव: पिछले वर्षों के 414 की तुलना में 570 (लक्ष्य: 981)
  • एलएचबी कोच: पिछले वर्ष 2788 की तुलना में 3790 (लक्ष्य: 6497)
  • विस्टा डोम कोच: उत्पादित: 13 (नवंबर’ 21 तक) (लक्ष्य: 90) कुल उपलब्धता: 57

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!