जलवायु परिवर्तन के खतरों से बचने के लिए बाल एवं किशोर संगठनों को प्रेरित करने की जरूरत बताई

Spread the love

गोपेश्वर, 22 मई (महिपाल)।
पर्वतीय बाल मंच (पबम) की स्थापना दिवस पर पंचायत भवन देवर खडोरा में हिमाद समिति एवं एम.सी.एफ. के संयुक्त तत्वावधान मैं पंचायत प्रतिनिधियों सामुदायिक संगठनों बाल एवं किशोर संगठनों के जलवायु परिवर्तन के खतरे एवं स्वच्छ पर्यावरण विषय पर कार्यक्रम आयोजित किए गए।


इस अवसर पर हिमाद सचिव उमाशंकर बिष्ट ने कहा कि जलवायु परिवर्तन के खतरों से बचने के लिए बाल एवं किशोर संगठनों को प्रेरित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन का असर कृषि, बागवानी, पर्यावरण एवं एवं मानव जीवन पर स्पष्ट दिखाई दे रहा है। इससे बचने के लिए अधिक से अधिक पौधरोपण की आवश्यकता है। उन्होंने पर्वतीय बाल मंच के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए पर्वतीय बाल मंच उत्तराखंड के सभी जनपदों में बच्चों की प्रतिभा क्षमता एवं कौशल विकास के लिए अवसर प्रदान करती है। साथ ही उन्होंने पर्वतीय बाल मंच द्वारा तैयार किया गया घोषणा पत्र की जानकारी दी तथा बाल एवं किशोर संगठनों से अपील की कि वह पर्वतीय बाल मंच के माध्यम से अपनी समस्याओं एवं समाज के जरूरतमंद बच्चों की अपील कर सकती है तथा अभिभावक बच्चों को इस संगठन से जुड़ाव के लिए प्रेरित करने का कार्य करें।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए टीम समन्वयक प्रभा रावत ने कहां कि चाइल्ड हेल्पलाइन सेवा 1098 के माध्यम से बच्चों के साथ होने वाले भेदभाव की जानकारी प्राप्त हो रही है, जिसके समाधान के लिए समिति द्वारा निरंतर प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, गौरा देवी, कन्या धन, मातृ वंदना योजना, मिशन वात्सल्य कार्यक्रम एवं स्पॉन्सरशिप पोस्टर केयर योजना की विस्तृत जानकारी दी।
इस अवसर पर चाइल्डलाइन टीम के सदस्य पंकज पुरोहित ने हिमाद समिति द्वारा संचालित चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 के तहत शोषण, उत्पीड़न, गरीब, लापता दिव्यांग शोषण एवं हिंसा देह व्यापार बाल मजदूर बाल यौन शोषण नशाखोरी के संदर्भ में दी जाने वाली सेवाओं की विस्तृत जानकारी दी।
बैठक में देवर खडोरा की उप प्रधान सरस्वती देवी, आशा कार्यकर्ती सुलोचना देवी, सचिव चरण पादुका समिति मीना तिवाड़ी ने संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए हिमाद समिति द्वारा इस प्रकार की रचनात्मक गतिविधियों का होना अनिवार्य है।
कार्यक्रम का संचालन उड़ान बाल एवं किशोर समूह की अध्यक्ष कुमारी रवीना द्वारा किया गया जिसमें सांस्कृतिक प्रोग्राम, नुक्कड़ नाटक, झूमेलो की शानदार प्रस्तुति दी गई। साथ ही महिला मंगल दल एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा झूमेलो, लोक नृत्य, एवं लोकगीत की शानदार प्रस्तुति दी गई।
बैठक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ती सतेश्वरी देवी महिला मंगल दल अध्यक्ष गायत्री देवी, कोषाध्यक्ष आशा देवी, भैरवनाथ स्वयं सहायता समूह अध्यक्ष अनीता देवी, कोषाध्यक्ष पुरणी देवी, सदस्य ललिता देवी, पुष्पा देवी, महेशी देवी, आशा देवी, दीपिका नेगी, सचिव रखी देवी, गीता देवी चाइल्डलाइन टीम सदस्य दीपक नेगी, मनोज सिंह, संतोषी बिष्ट, अनीता फर्स्वाण आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!