हरेला की चमोली में रही धूम : चिपको आंदोलन के प्रणेता चंडी प्रसाद भट्ट ने भी वृक्षारोपण किया

Spread the love

चमोली, 16 जुलाई (उहि) पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए समर्पित लोकपर्व हरेला चिपको आंदोलन की जन्मस्थली चमोली जिले में हर्षोल्लास से मनाया गया।इस अवसर ओर जिले के विभिन्न स्थानों पर समारोह के तौर ओर वृक्षारोपण कार्यक्रमों की शुरुआत हुई। चिपको आंदोलन के प्रणेता चंडी प्रसाद भट्ट ने स्वयं पौधरोपण कर हरेला पर्व के उल्लास को दोगुना किया।

इस अवसर पर गोपेश्वर वन पंचायत क्षेत्र में वरिष्ठ पर्यावरणविद्  एवं चिपको आ दोलन के प्रणेता चण्डी प्रसाद भट्ट की अगुवाई में वृहद स्तर पर पौधारोपण किया गया। इस दौरान अखरोट, अनार, चूरा, भमोरा, हरड़, वहेडा, गरूढ, पीपल, चंदन आदि विभिन्न प्रजाति के फलदार एवं सजावटी पौधे लगाकर उनके संरक्षण का संकल्प लिया गया। जनपद में सभी वन पंचायतों में भी हरेला पर्व पर पौधारोपण अभियान का आगाज हुआ।

 

हरेला पर्व पर जिला मुख्यालय गोपेश्वर में वन प्रभाग के तत्वाधान में गैर पुल स्थित ईको पार्क में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, जिलाधिकारी हिमांशु खुराना, मुख्य विकास अधिकारी वरूण चौधरी सहित जिले तमाम वरिष्ठ अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने हरेला पर्व पर पौधारोपण किया।

जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने पूरे जनपद वासियों को हरेला पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने हरेला महोत्सव पर सभी से पौधरोपण करने और उनके संरक्षण के लिए संकल्प लेने की बात कही। कहा कि लोकपर्व हरेला का उदेश्य पर्यावरण और जल संरक्षण से जुडा है। पौधरोपण से जहॉ एक ओर हमें स्वच्छ पर्यावरण मिलेगा वही दूसरी ओर जल संकट से भी निजात मिलेगी। इसके लिए हम सबको इस अभियान में मिलकर काम करने की जरूरत है। जिलाधिकारी ने सबसे अपील करते हुए कहा कि प्राकृतिक जलस्रोतों, नदी एवं सरोवरों के आसपास वृहद स्तर पर पौधरोपण करें। साथ ही वन क्षेत्रों में फलदार पौधे लगाए। ताकि पर्यावरण संरक्षण के साथ मानव-वन्यजीव सघर्ष को भी कम किया जा सके।

मुख्य विकास अधिकारी वरूण चौधरी ने पर्यावरण के महत्व को समझाते हुए सिंगल यूज प्लास्टिक का पूरी तरह से परित्याग करने की बात कही। बद्रीनाथ उप वन संरक्षक सर्वेश कुमार दुबे ने कहा कि हरेला पर्व पर इस बार 50 प्रतिशत फलदार एवं 50 प्रतिशत वन प्रजाति के पौधों लगाए जा रहे है। जनपद में 350 से अधिक वन पंचायत है और वन विभाग के माध्यम से प्रत्येक वन पंचायत को 75 पौध निःशुल्क दी जा रही है। इसके अतिरिक्त कृषि, उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, जल संस्थान, शिक्षा सहित अन्य तमाम विभागों के सहयोग से पूरे जनपद में वृहद स्तर पर पौधरोपण कार्यक्रम शुरू किया गया।

इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष पुष्पा पासवान, पूर्व विधायक कुंवर सिंह नेगी, सामाजिक कार्यकर्ता डीपी पुरोहित, सभासद नवल भट्ट, केदारनाथ उप वन संरक्षक इन्द्र सिंह नेगी, उप वन संरक्षक एनबी शर्मा, अपर जिलाधिकारी अभिषेक त्रिपाठी सहित तमाम जिला स्तरीय अधिकारी, कर्मचारी एवं गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!