कोटद्वार से बीरोखाल के लिए रेलवे लाइन के विस्तारीकरण की मांग

Spread the love

पौड़ी, 22 जुलाई (प्रभुपाल)। रिखणीखाल प्रखंड की दिल्ली में सक्रिय सामाजिक संस्था   ” रिखणीखाल जन चेतना समिति” के अध्यक्ष पूर्व सैन्य अधिकारी विक्रम सिंह रावत ने उत्तराखंड के सांसदों से रेल लाइन का कोटद्वार से बीरोंखाल तक विस्तार कराने की मांग को संसद में उठाने की मांग की है।

विक्रम सिंह रावत ग्राम बराई धूरा के है। वह समय समय पर दिल्ली की चमचमाती सड़कों, मैट्रो का  सफर, ऊँची ऊँची भव्य इमारतें, आधुनिक बाजारों की साज सज्जा व रौनक, संचार सुविधा को भुलाकर अपने मूल व पैतृक गांवों को याद करते हुए अपने  सांसद तीरथ सिंह रावत को अपने क्षेत्र की समस्याओं से बराबर पाती लिखकर सुझाव व निवेदन करते रहते हैं। इसी कड़ी में वे दो पत्र दिनांक 02/06/2022 व 21/07/2022 को ई मेल व व्हाटसप के माध्यम से भेज चुके हैं।
विक्रम सिंह रावत लिखते हैं कि भारतीय रेल सेवा सन 1892 में ब्रिटिश हुकूमत में कोटद्वार पहुंच गयी थी जो कि उस समय की रेल सेवाओं में से एक थी।सन 1901 में सवारी यात्रियों को मुहैया करा दी गई थी।ब्रिटिश काल के समय को छोड़कर आजाद भारत के 75 वर्ष बीत जाने के बाद भी पहाड़ी क्षेत्रों के लिए इस रेल लाइन का विस्तारीकरण की ओर किसी भी सरकार का ध्यान केंद्रित नहीं हुआ।

इस रेल लाइन के विस्तारीकरण से पौडी जिले के कयी विकास खंडों नैनीडान्डा,रिखणीखाल,पोखडा,जयहरीखाल तथा बीरोखाल आदि क्षेत्रों के लोगों को यातायात,कृषि उपज को बाजार तक ले जाने,लाने,छोटे उद्योग स्थापित करने,स्वरोजगार अपनाने,पलायन रोकने आदि में सार्थक सिद्ध होगा तथा भारत की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी की नीति “सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास सबका प्रयास” की नीति सार्थक,फलीभूत व चरितार्थ सिद्ध होगी।

विक्रम सिंह ने उत्तराखंड के सांसदों से इस मांग को संसद के पटल पर उजागर करने का निवेदन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!