चमोली में जिलाधिकारी ने हेमकुंड साहिब यात्रा व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण किया

Spread the love

गोपेश्वर, 1 जून(उहि)।
जिलाधिकारी वरूण चौधरी ने बुधवार को हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग का पुलना से घांघरिया तक पैदल निरीक्षण करते हुए यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने संबधित विभागों को आपसी समन्वय बनाते हुए यात्रा मार्ग पर बिजली, पानी, शौचालय एवं साफ सफाई व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए।

पुलना से करीब 2 किमी आगे निर्माणाधीन पैदल डाईवर्जन मार्ग का निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग को एक सप्ताह में कार्य पूरा कराने को कहा। वही भ्यूंडार से 2 किमी पीछे गदेरे के पास मार्ग में सुरक्षा के दृष्टिगत तत्काल रैलिंग लगाने के निर्देश दिए। डीएम ने भ्यूंडार में निर्माणाधीन नए एप्रोच मार्ग का निरीक्षण भी किया। उन्होंने लोनिवि को मार्ग निर्माण में तेजी लाने और यात्रा मार्ग पर निर्माणाधीन रैन सेल्टर का कार्य 10 जून तक पूरा करने के निर्देश दिए। लोनिवि के अधिशासी अभियंता ने बताया कि पुलना से घांघरिया तक 10 स्थानों पर रैन सेल्टर बनाए जाने है। अभी 5 स्थानो में रैन सेल्टर बनाए जा रहे है।

यात्रा मार्ग पर प्रकाश व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए डीएम ने विद्युत विभाग को स्ट्रीट लाईट की वैकल्पिक व्वयस्था हेतु जिओ के पोल का उपयोग करने को कहा। वही भ्यूंडार व डाडीसाल स्थित सुलभ शौचालय में बिजली की व्यवस्था न मिलने पर सुलभ को तत्काल शौचालयों में बिजली फिटिंग कराने तथा विधुत विभाग को बिजली का कनेक्शन लगाने और रास्ते में रखे विद्युत पोलों को तत्काल हटाने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने यात्रा मार्ग पर शौचालयों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने पर्यावरण विकास समिति (ईडीसी) को जंगलचट्टी में वायोटाएलेट के खराब दरवाजे बदलने, शौचालय की मरम्मत व पानी की सप्लाई सुनिश्चित करने और मार्ग में खराब कूडेदानों को तत्काल बदलने के निर्देश दिए।

पर्यटन अधिकारी को निर्देशित किया कि जंगलचट्टी में स्थित पर्यटक सुविधा केन्द्र को ग्रामसभा से ईडीसी को हस्तांतरित करते हुए यात्रियों के लिए सुविधाजनक बनाया जाए।

वन विभाग को यात्रा मार्ग पर पुराने एवं खराब पडे साईनबोर्ड को बदलने और लोनिवि को पैदल मार्ग दूरी की जानकारी हेतु माइलस्टोन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

जल संस्थान को भ्यूंडार से नीचे 3 किमी के दायरे में पेयजल की व्यवस्था करने के साथ ही जहां पर भी पानी की लिकेज है, उसको तत्काल ठीक कराने हेतु निर्देशित किया गया।

भ्यूंडार पुल के निकट नदी किनारे सुरक्षा दीवार निर्माण हेतु डीएम ने लोनिवि, ईडीसी व पर्यटन विभाग को संयुक्त सर्वे करते हुए शीघ्र निरीक्षण रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा।

घांघरिया पहुंचने पर जिलाधिकारी ने पर्यावरण समिति के कार्यालय में सभी अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि आपस में समन्वय बनाकर यात्रा पर संचालित कार्यो को समयबद्ध तरीक़े से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। कहा कि जल्द फिर से सभी कार्यो की प्रगति समीक्षा की जाएगी। निरीक्षण के दौरान जो कमियां सामने आई है, उनको तत्काल दूर करें।

निरीक्षण के दौरान गुरूद्वारा ट्रस्ट के प्रबंधक सेवा सिंह, जल संस्थान के अधीक्षण अभियंता सुशील कुमार सैनी, जिला पर्यटन अधिकारी एसएस राणा, लोनिवि के अधिशासी अभियंता नवीन कौशिक, अधिशासी अभियंता विद्युत अमित सक्शेना, ईडीसी के अध्यक्ष चन्द्र शेखर चौहान, नायब तहसीलदार रवि शाह, वन दरोगा मनोज कुमार, सुलभ के प्रभारी व्ववस्थापक मनोज झा एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!