पतंजलि परिवार के लोग न तम्बाकू पियेंगे और न किसी को प्रोत्साहित करेंगे

Spread the love

हरिद्वार, 01 जून (उहि)। पतंजलि विश्वविद्यालय के छात्रा-छात्राओं द्वारा मई, 2022 को राष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर छात्रा-छात्राओं, उच्च अधिकारियों और शिक्षकों ने शपथ ली कि वे न तो तम्बाकू और उसके विभिन्न उत्पादों का प्रयोग स्वयं करेंगे और न ही किसी अन्य को इनका उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।


इस अवसर पर विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति डॉ. महावीर ने छात्रा-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि व्यसन से मनुष्य का जीवन पशु के समान हो जाता है। व्यसनयुक्त मनुष्य के जीवन में न तो कोई उत्साह रहता है, न ही कोई लक्ष्य। महावीर ने कहा कि पतंजलि विश्वविद्यालय के तत्वाधान में तथा स्वामी रामदेव महाराज एवं आचार्य बालकृष्ण के दिशानिर्देशन में समय समय पर नशामुक्त अभियान संचालित किए गए हैं।


उन्होंने विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से आह्वान किया कि स्वयं व्यसनमुक्त रहते हुए अधिक से अधिक लोगों को व्यसनमुक्त रहने के लिए प्रेरित करें। इस वर्ष राष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस का आयोजन एक विशेष नारे के साथ किया गया था- ‘उत्तराण्ड को तंबाकू मुक्त बनाने के लिए गांव जाएं’।


राष्ट्रीय तंबाकू निषेध दिवस के उद्देश्य की पूर्ति के लिए पतंजलि के छात्रा-छात्राओं ने उच्च अधिकारियों और शिक्षकों के साथ शपथ ली कि वे न तो तम्बाकू और उसके विभिन्न उत्पादों का प्रयोग स्वयं करेंगे और न ही किसी अन्य को इनका उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। छात्रा-छात्राओं ने पूरे दिन पोस्टर और रैलियों के माध्यम से राष्ट्रीय तंबाकू निषेध का प्रचार कार्य किया। कार्यक्रम में साध्वी देवप्रिया, ऋतम्भरा, श्रीमती प्रवीण पूनिया, स्वामी परमार्थदेव, श्रीमती आराधना कौल, डॉ. वैशाली गौड़, डॉ. संजय सिंह, डॉ. निध्षि यादव, डॉ. आदित्य भार्गव, डॉ. अभिषेक भारद्वाज सहित पतंजलि विश्वविद्यालय के समस्त शिक्षकगण तथा छात्रा-छात्राएँ उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!