चमोली के डीएम खुराना ने लिया आपदाग्रस्त मोेख मल्ला क्षेत्र का जायजा, दिया हर संभव मदद का भरोसा

Spread the love
  • डीएम खुराना ने पीड़ितों के पोंछे आंसू
  • पूरा सरकारी अमला रहा मौजूद

–उत्तराखंड हिमालय ब्यूरो —
गोपेश्वर, 1 सितम्बर। जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने गुरुवार को नंदानगर (घाट) के दूरस्थ आपदा प्रभावित क्षेत्र मोख मल्ला का पैदल भ्रमण कर आपदा से क्षत्रिग्रस्त सडक, पैदल मार्ग एवं परिसंपत्तियों का स्थलीय निरीक्षण किया।

मोखमल्ला गांव पहुंच कर जिलाधिकारी ने ग्रामसभा धुर्मा, कुंडी, बांसबाड़ा, सेरा, मोखमल्ला व तल्ला क्षेत्र की जन समस्याएं सुनते हुए अधिकांश समस्याओं का मौके पर निराकरण भी किया। जिलाधिकारी ने क्षेत्र की जनता को आश्वस्त किया कि शासन और विभाग स्तर की समस्याओं का भी जल्द से जल्द निस्तारण कराया जाएगा।

मोखमल्ला में जनसुनवाई के दौरान ग्रामीणों ने धुर्मा -कुंडी मोटर मार्ग के किलोमीटर-2 से मोख मल्ला के किमी-5 तक जगह जगह सड़क क्षत्रिग्रस्त होने से लोगों को आवाजाही में आ रही समस्या को प्रमुखता से रखा। बताया कि धुरमा गांव में सड़क के मलबे से गांव के आवासीय भवन, पैदल मार्ग, कृषि भूमि को भी नुकसान हुआ है।

 

क्षेत्रवासियों ने मोटर मार्ग निर्माण में एनपीसीसी के ठेकदार की लापरवाही पर उचित कार्रवाई करने और सड़क को जल्द से जल्द सुचारू करने की बात कही। जिस पर जिलाधिकारी ने एनपीसीसी के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए सड़क को शीघ्र सुचारू करने हेतु कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही भूस्खलन क्षेत्र में सड़क का एलाइनमेंट बदलने के लिए त्वरित कार्रवाई करने के कहा।

 

आपदा में क्षतिग्रस्त पैदल मार्ग को ठीक कराने के लिए जिलाधिकारी ने बीडीओ को निर्देशित किया कि ब्लाक से आंगणन तैयार कर शीघ्र उपलब्ध करें। सड़क निर्माण में प्रभावित काश्तकारों की भूमि का मुआवजा न मिलने की शिकायत पर लोनिवि के अधिशासी अभियंता ने बताया कि मुआवजा धनराशि मिल गई है और एक महीने में सभी प्रभावितों को मुआवजा वितरण कर लिया जाएगा। बगड तोक में मोक्ष नदी से बने खतरे की समस्या पर जिलाधिकारी ने बताया कि क्षेत्र का भूगर्भीय सर्वेक्षण कराया गया है। सर्वे रिपोर्ट आने पर सुरक्षात्मक कार्य और विस्थापन जो भी जरूरी होगा, करवाया जाएगा। इस दौरान क्षेत्र वासियों ने सेरा, बांसबाडा एवं बगड तोकों चैकडैम बनाने की मांग भी रखी।

 

धुर्मा-मोख मल्ला क्षेत्र के बगड बस्ती, रिक्तोली, नचपाणी, पिन्ठांग तोकों में पेयजल लाईन क्षतिग्रस्त होने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने जल संस्थान को तत्काल पेयजल आपूर्ति सुचारू करने के निर्देश दिए। मोख मल्ला व तल्ला में बिजली के झूलते तारों से बने खतरे और विद्युत पोल शिफ्ट कराने की मांग पर अधिशासी अभियंता को शीघ्र सुरक्षात्मक कार्रवाई करने को कहा गया। इस दौरान क्षेत्रवासियों को राशन कार्ड बनाने में आ रही समस्या का भी मौके पर समाधान किया गया।

क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी से राइका मोख में विज्ञान वर्ग शुरू न होने की समस्या भी प्रमुखता से रखी। जिस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि विज्ञान वर्ग के लिए पदों का सृजन होना है और इसका प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। वही मोख मल्ला में प्राथमिक विद्यालय और जूनियर हाईस्कूल में क्षतिग्रस्त किचन की मरम्मत हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए गए। धुर्मा में आंगनबाडी भवन न होने की समस्या पर जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को विद्यालय भवन में ही आंगनबाडी संचालन हेतु कक्ष आवंटित करने को कहा। इस दौरान जिलाधिकारी ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याएं सुनते हुए अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया। मोख मल्ला में जनसुनवाई के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा 51 ग्रामीणों को कोविड की बूस्टर डोज भी लगाई गई।

इस दौरान संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिनव शाह, एसीएमओ डा.एमएस खाती, जिला विकास अधिकारी सुमन राणा, लोनिवि अधिशासी अभियंता सुदर्शन सिंह रावत, नायब तहसीलदार राकेश देवली, बीडीओ रमेश चन्द्र, अधिशासी अभियंता विद्युत अमित सक्सेना आदि सहित क्षेत्र पंचायत संगठन के अध्यक्ष शोबन सिंह नेगी, मोख मल्ला के प्रधान राजेश तिवारी, पूर्व प्रधान अनुसूया देवी, पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह नेगी, अबल सिंह नेगी, भरत सिंह नेगी, धुर्मा के पूर्व प्रधान मंगल सिंह नेगी, भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह नेगी, प्रधान संगठन के अध्यक्ष सुमेर सिंह नेगी, हयात सिंह रावत, मनवर सिंह रावत, महावीर सिंह रावत, यशवंत सिंह रावत, पुष्कर सिंह रावत बिरेंद्र सिंह रावत गुदाल सिंह रावत महिपाल सिंह रावत सूरज सिंह रावत बिकास सिंह रावत,  दिवान सिंह बिष्ट महावीर सिंह रावत हयात सिंह रावत व क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रकाश लालएवं क्षेत्रीय जनता मौजूद थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!