बामेशवर खदेड़ चन्द्रशिला नन्दाकुणड मेले की पांचवीं संध्या लोक गायक दर्शन फरस्वान और माया उपाध्याय के नाम रही

Spread the love

-पोखरी से राजेश्वरी राणा –

विकास खण्ड के नन्दाकुणड में आयोजित सात दिवसीय बामेशवर खदेड़ चन्द्रशिला नन्दाकुणड किसान विकास मेले की पांचवीं संध्या लोक गायक दर्शन फर्रस्वाण और लोक गायिका माया उपाध्याय के नाम रही।

लोग पांचवीं संध्या इन दोनों के लोक गीतों और लोक नृत्यों पर मध्य रात्रि तक थिरकते रहे। र्कार्यक्रम की शुरुआत लोक गायक दर्शन फर्रस्वाण ने  नन्दा देवी के भजन हे नन्दा भवानी सौन भादों का महीना सौरियासे खी बारी से गई। इनके लोक गीत और नृत्य पहाड़ों को ठंडो पाणी पियाली हिट सौरु पहाड़ घूमी औलू ,।झुमकियाली झुमकियाली कन्दूणी झुमकी झुमके पोखरी गौ की हिरणी बाध । कुछ नि होन्द त नौ का बाद सीधा हमारा कैरा साबू ,ने मेले में समा बांध कर मध्य रात्रि तक मुख्य अतिथि बद्रीनाथ के विधायक राजेंद्र सिंह भण्डारी सहित दर्शकों को थिरकने पर मजबूर कर दिया।

वहीं लोक गायिका माया उपाध्याय ने तो अपने लोक गीतों और लोक नृत्य से मेले में चार चांद लगा दिए। इनके लोक गीतों और लोक नृत्यो हाय ककड़ी झिलै मां लोण पिसे सिलै मां ।आज का दिन स्वामी तुम विना याद आणी स्वामी तुम विना । लौंडा सुभाष छोरी लक्षी मां । क्रीम पाउडर घिसके ।घोटी जालों भगसुवा दो दिन की छ सुवा ज्वानीकी उमंग, ने मेले में चार चांद लगा कर पांडाल में बैठे अतिथियों सहित दर्शकों को देर रात तक झूमने को मजबूर कर दिया।

वहीं हास्य कवि मुरली दीवान ने अपनी हास्य कविता नेता क्वे नि होन्दो भुल्ली नेता होण तै दमखम चौणू भुल्ली। नन्दा भवानी यो मंख्यों तै दुख कम दे पर सुख भी कम ना दे, ने दर्शकों को खूब हंसाया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि मेले के संस्थापक बद्रीनाथ के विधायक राजेंद्र सिंह भण्डारी ने इन कलाकारों की प्रस्तुतियों से प्रसन्न होकर इन्हें शौल ओढ़ कर सम्मानित किया और कहा कि इन कलाकारों ने अपनी शानदार प्रस्तुतियो से इस मेले को अपने चरम पर पहुंचा दिया तो। यहां के स्थानीय कलाकारों को भी इनसे प्रेरणा लेकर और सीख कर अपनी कलाओं का प्रर्दशन करना चाहिये। मेले निश्चित रूप से विकास के ड्योतक् है ,और आपसी भाईचारे को बढ़ाते हैं।

जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भण्डारी ने कहा कि मेले जहां आपसी भाईचारे को बढ़ाते हैं ,वही इनसे मिलन भी होता और। प्रमुख प्रीती भण्डारी ने कहा कि मेले के आयोजन से जहां आपसी भाईचारा और प्रेम बढ़ता और। वहीं कलाकारों के पहुंचने से लोगों का भरपुर मनोरंजन होता है ।

इस अवसर पर मेलाध्यक्ष शिशुपाल बर्त्वाल, कोषाध्यक्ष गोपाल रमोला उपाध्यक्ष सती नेगी, सलना की प्रधान चन्द्रकला देवी, किमोठा के प्रधान मधुसूदन किमोठी, रडुवा के प्रधान प्रदीप वर्तवाल, जौरासी के प्रधान विनोद लाल, काण्डई चन्द्रशिला के प्रधान नवीन राणा, तोणजी के प्रधान मुकेश नेगी, क्षेत्र पंचायत सदस्य भरत नेगी, लखपत राणा ,जगदीश नेगी, मनोज भण्डारी ,कांग्रेस के ब्लांक अध्यक्ष सन्तोष चौधरी, हर्षवर्धन राणा, बीरेंद्र भण्डारी, सुबेदार तेजपाल वर्तवाल, सुबेदार सुरेन्द्र सैलानी, सहित तमाम क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि और मेला कमेटी के पदाधिकारी मौजूद थे। मंच संचालन एडवोकेट देवेन्द्र वर्तवाल ने किया ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!