ग्वालदम-कर्णप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग कि दुर्घटना के बाद सितम्बर तक पहाड़ काटने का कम रोकने की मांग

Spread the love

थराली से हरेंद्र बिष्ट–

ग्वालदम-कर्णप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार को एक कार के ऊपर अचानक बोल्डर गिरने से हुई पति-पत्नी के मौत के बाद क्षेत्रीय जनता ने इस राजमार्ग पर सितंबर तक हिल साईड कटिंग पर रोक लगाने की मांग को लेकर उपजिलाधिकारी थराली को एक ज्ञापन सौंपा।जिस पर एसडीएम ने आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया हैं।


गत दिवस एक दर्दनांक हादसे में मेटा मल्ला के एक दांपत्य की मौत हो गई थी। जिसके लिए स्थानीय लोगों ने सड़क चौड़ीकरण को जिम्मेदार माना था। इस संबंध में देवाल के पूर्व ब्लाक प्रमुख एवं बार एसोसिएशन थराली के अध्यक्षडीडी कुनियाल,चेपड़ो के क्षेत्र पंचायत सदस्य देवेंद्र सिंह रावत, नारायणबगड़ के एडवोकेट महिपाल सिंह नेगी आदि ने एसडीएम थराली रविंद्र जुवांठा को सौंपे एक पत्र में कहा है कि ग्वालदम-कर्णप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग पर पिछले कुछ महीनों से नारायणबगड़- बगोली के बीच सड़क चौड़ीकरण के तहत बीआरओ के द्वारा बड़ी-बड़ी मशीनों एवं ब्लास्टिंगों के जरिए पहाड़ों को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा हैं।इस प्रयास के कारण पहाड़ियां काफी कमजोर होती जा रही हैं। जिससे प्रत्येक क्षण सड़क के हिल साईड से पत्थरों,मलुवें एवं पेड़ों के टूटने का खतरा बना हुआ हैं। इसके कारण कई हादसे हों चुके हैं। उन्होंने एसडीएम से तत्काल प्रभाव से कटिंग के कार्य में मशीनों एवं ब्लास्टिंग पर रोक लगाने की मांग करते हुए बरसात समाप्त होने के बाद भी कटिंग का कार्य शुरू करने, तब तक सड़क पर अन्य जरूरी कार्य करने की मांग की हैं।पत्र पर एसडीएम ने आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!