अंकिता और रामपाल के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए आक्रोशित नारों से गुंज उठा रिखणीखाल

Spread the love

–रिखणीखाल से प्रभूपाल सिंह रावत–

रिखणीखाल प्रखंड के तमाम जनप्रतिनिधि, समाज सेवी, बुद्धिजीवी, महिलाएं, नवयुवक व नवयुवतियो ने कोटडीसैण बाजार में अंकिता भंडारी व रामपाल उर्फ कालू को न्याय दिलाने के लिए जबरदस्त नारों के बुलन्द आवाज के साथ पदयात्रा कर एक विशाल रैली निकाली।

रैली में लोग पूर्व ब्लॉक प्रमुख रिखणीखाल पिंकी नेगी,महिला कांग्रेस प्रदेश महामंत्री रंजना रावत के कुशल नेतृत्व में कदम से कदम मिलाकर अंकिता भंडारी और रामपाल उर्फ कालू के कातिलों को फांसी की मांग को लेकर समूचा पैनो घाटी, मंदाल घाटी,इडियाकोट रिखणीखाल के गाँवो व कोटडीसैण के व्यापारियों के नारों से आसमान गूँज उठा।रैली में ” अंकिता व रामपाल के हत्यारों को फांसी दो व उनके परिवार को न्याय दो” ।रामपाल हम शर्मिन्दा हैं तेरे कातिल खुले आम घूम रहे हैं।

चार माह पूर्ण होने के बाद भी दो थानों के चक्कर काटने के बाद भी रामपाल उर्फ कालू के मर्डर का खुलासा व पर्दाफाश नहीं हो सका।क्योंकि रामपाल उर्फ कालू गरीब व बेसहारा परिवार से ताल्लुक रखता है।दबी जुबान में राजनैतिक हस्तक्षेप की आशंका जतायी जा रही है।

रामपाल उर्फ कालू पुत्र कृपाल सिंह नेगी ग्राम कालिन्कौ,पोस्ट नौदानू की हत्या उसके संदिग्ध साथियों द्वारा 03/06/2022 को की गई थी,तथा दो बाद जवाडीरौल की नहर में लाश अक्षत विक्षत अवस्था में मिली।जिसका प्राथमिक सूचना रिपोर्ट थाना रिखणीखाल में करा दी गयी थी,बल्कि एफ आइ आर दर्ज कराने के लिए भी धरना-प्रदर्शन व पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड की शरण लेने की आवश्यकता पड़ीं।

कयी माह तक जांच नहीं हुई,लापरवाही व हीलाहवाली ही रही।जिसके फलस्वरूप पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अशोक कुमार से मिलकर जांच थाना श्रीनगर गढ़वाल को स्थान्तरित किया।रिखणीखाल थाना से असंतोष रहा।अब थाना श्रीनगर से भी खास रिस्पांस नजर नहीं आ रहा है।कुछ न कुछ बहाना लगाते जा रहे हैं व विलम्ब होता जा रहा है।चार माह बीत जाने के बाद भी जांच यथावत है।इतने लम्बे समय बाद भी हत्यारे खुले आम क्षेत्र में घूम रहे हैं,उनकी धरपकड नहीं हो पा रही है।

मित्र पुलिस उनको पकड़ने का साहस व दृढ इच्छाशक्ति नहीं दिखा पा रही है।उनके ऊपर भी किसी न किसी का वरदहस्त व कृपा बनी है,जैसे कि अंकिता भंडारी प्रकरण में आया है।रामपाल उर्फ कालू गरीब घराने से है उसके परिवार की इतनी पहुंच नहीं है कि वे बार बार किसी के आगे पीछे घूमते रहे।इसके लिए भी तो धन की आवश्यकता होती है।

इसी परिप्रेक्ष्य में आज स्थानीय लोगों ने एकत्रित होकर रैली निकालकर तहसीलदार रिखणीखाल के माध्यम से श्री राज्यपाल महोदय,उत्तराखंड को ज्ञापन सौंपा तथा मांग रखी कि अंकिता भंडारी के हत्यारों को फांसी हो तथा रामपाल उर्फ कालू के हत्यारों की शीघ्र धरपकड की जाये जिससे क्षेत्र में ऐसे लोगों से छुटकारा पाकर शान्ति का वातावरण बना रहे।

आज की रैली में मुख्य रूप से पूर्व ब्लॉक प्रमुख रिखणीखाल पिंकी नेगी,महिला कांग्रेस प्रदेश महामन्त्री रंजना रावत,रिखणीखाल कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष व प्रधान प्रमोद रावत,अजयपाल सिंह रावत,जो कि इस रैली के संयोजक भी हैं,रविन्द्र रावत,धनवीर नेगी,उर्मिला नेगी,मनोज रावत,अनिल कुमार सिंह रावत,रिखणीखाल प्रधान संघ अध्यक्ष रघुवीर पटवाल,मोहित कुमार सहित अनेकों पुरूष,महिलायें,नवयुवक व युवतियाँ नजर आये।कोटडीसैण का व्यापारिक वर्ग भी बढ़चढ़कर अपनी दुकानें व संस्थान बन्द करके शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!