चारधाम यात्रा हेतु हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर लाखों रुपयों की ठगी करने वाला मास्टरमाइंड गिरफ्त में।

Spread the love

 

–गोपेश्वर से महिपाल गुसाईं —

चारधाम यात्रा के लिये देशभर के श्रद्धालुओं से हेलीकाप्टर बुकिंग के नाम पर लाखों रुपयों की ठगी के आरोपी को चमोली पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त के द्वारा धोखाधड़ी का पैसा ठगी में प्रयुक्त एसबीआई खाते से अलग-अलग खातों में ट्रांसफर करना पाया गया, जिसके पश्चात् एसबीआई खाते से जिन खातों में ठगी का पैसा ट्रांसफर किया गया था उनका अवलोकन करने पर पाया गया कि अभियुक्त द्वारा वारिसलीगंज के अलग- अलग एटीएम से पैसा निकाला गया है।

पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे ने आज यहाँ पत्रकारों को यह जानकारी देते हुए बताया  कि   15.  मई  को उत्तर प्रदेश से बद्रीनाथ दर्शन को आए श्रद्धालु अम्बरीश कुमार द्वारा कोतवाली बद्रीनाथ में आकर बताया कि हिमालयन हेली सर्विस प्राइवेट लिमिटेड द्वारा केदारनाथ हेतु ऑनलाइन हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर उनके साथ 24,590/ रुपये की ठगी की गई है। देशभर में श्रद्धालुओं के साथ घटित हो रही इस घटना की गम्भीरता का स्वयं संज्ञान लेते हुए कोतवाली बद्रीनाथ को उक्त प्रकरण में मुकदमा पंजीकृत करने व फ्रॉड से सम्बन्धित अभियुक्त की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम गठित करने हेतु निर्देशित किया गया।

पुलिस अधीक्षक के आदेश के अनुपालन में कोतवाली बद्रीनाथ में *मुकदमा अपराध संख्या 02/2022 धारा 420 आईपीसी* पंजीकृत कर अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु उपनिरीक्षक विनोद चौरसिया के नेतृत्व में एसओजी टीम द्वारा फोन कॉल्स एवं लोकेशन के आधार पर अभियुक्त का नवादा (बिहार) होना पाया गया। पुलिस अधीक्षक के आदेश से अभियुक्त की तलाश एवं गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम बिहार रवाना की गई। बिहार में लगातार 10 दिनों के अथक प्रयास से वादी को कॉल करने बाले एवं वैबसाइट पर लिंक मोबाइल नम्बर  मय दो मोबाइल फोन व 42,000/-रुपये नगद के साथ मुख्य अभियुक्त *विभीषण महतो पुत्र  गणेश महतो निवासी- ग्राम भवानी बीघा थाना- वारिसलीगंज जनपद नवादा, उम्र -19 वर्ष* की जनपद एवं थाना नवादा (बिहार) से की गिरफ्तारी की गयी। पूछताछ में कबूल किया कि उसके द्वारा ही हेलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर लोगों से ठगी की जा रही है व अबतक देशभर में अलग-अलग लोगों से 15 से 20 लाख की धोखाधड़ी की जा चुकी है।

*ऐसे बुनते थे ऑनलाइन ठगी का जाल*

अभियुक्त द्वारा बताया गया कि केदारनाथ व बद्रीनाथ हेतु हैलीकॉप्टर बुकिंग हेतु फर्जी वेबसाइट्स तैयार करने व उन साइट्स की होस्टिंग के लिए तेलंगाना निवासी एक इंजीनियर की मदद ली जाती है, जिसे अभियुक्त द्वारा प्रतिदिन 4000/- से 5000/- रुपये भुगतान किया जाता है। ताकि फर्जी वैबसाइट्स गूगल पर सर्च करने पर सबसे ऊपर दिखाई दे। चारधाम यात्रा के दौरान हैलीकॉप्टर बुकिंग के नाम पर लोगों से ठगी के लिए अभियुक्त द्वारा दो अलग-अलग साइट्स 1- https://www.himalayanheliservice.com

2- https://www.kedarnathjourney.com बनवाई गई हैं।

उक्त साइट्स पर अभियुक्त द्वारा अपने अलग-अलग फर्जी मोबाइल नम्बर डाले गए थे,जिन पर यात्रियों के द्वारा कॉल करने पर मैं ही स्वयं केदारनाथ व बद्रीनाथ हेतु हैली बुकिंग व पैकेज किराये के बारे में बताता हूँ। उसने बताया की  जैसे ही यात्री मेरी बातों में आकर हैली बुकिंग करवाने को तैयार हो जाते हैं, तो मैं SBI बैंक और अन्य माध्यमों से पैसे मंगवाता हूँ,और जब यात्रियों को शक होता है कि उनके साथ धोखाधड़ी हो गयी है तो यह कहकर और पैसे मंगवा लेता हूँ कि website suspend हो गयी है,यदि आप अपनी कन्फर्म टिकट चाहते हैं तो आपको कुछ पैसे और देने पड़ेंगे, इस पर लोग और पैसे मेरे एसबीआई अकाउंट में, पेटीएम में, तथा यूपीआई के माध्यम से भेज देते हैं। उन पैसों को मैं तत्काल नेट बैंकिंग व अन्य एप्प के माध्यम से लगातार अन्यत्र ट्रांन्सफर करके कुछ पैसों को एटीएम से निकाल लेता हूँ और कुछ पैसों को यूनियन बैंक,एक्सिस बैंक,एचडीएफसी बैंक,फिनो पेमेन्ट बैंक,एयरटेल पेमेऩ्ट बैंक,पेटीएम पेमेऩ्ट बैंक में ट्रांसफर कर देता हूँ। मेरे द्वारा पिछले 20-25 दिनों में काफी लोगों के साथ केदारनाथ हैली सर्विस, बद्रीनाथ हैली सर्विस पर करीब 15-20 लाख रुपये की धोखाधड़ी की गयी है।

अभियुक्त के द्वारा धोखाधड़ी का पैसा ठगी में प्रयुक्त एसबीआई खाते से अलग-अलग खातों में ट्रांसफर करना पाया गया, जिसके पश्चात् एसबीआई खाते से जिन खातों में ठगी का पैसा ट्रांसफर किया गया था उनका अवलोकन करने पर पाया गया कि अभियुक्त द्वारा वारिसलीगंज के अलग- अलग एटीएम से पैसा निकाला गया है। एटीएम फुटेज में आई फोटो की पहचान एक संदिग्ध मोबाइल नंबर- 8873736809 में दी गई आईडी की फोटो के आधार पर हुई। अभियुक्त के द्वारा धोखाधड़ी का पैसा अपने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया वारिसलीगंज जिला नवादा में 3.7 लाख व एक्सिस बैंक के एकाउंट में 1.7 लाख रुपए जमा करवाए गए थे, जिसको फ्रीज करवाया गया है। कुछ और एकाउंट सिटी यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, पेटीएम पैमेंट बैंक, एयरटेल पैमेंट बैंक की जानकारी मिली है,जिनमें अभियुक्त द्वारा देश भर में कई लोगों से की गई ठगी की धनराशि जमा करवाई गई है। अभियुक्त के द्वारा जिन मोबाइल नंबर का प्रयोग कर वादी को कॉल की गयी थी, पुलिस के द्वारा उन मोबाइल नंबर को मय मोबाइल फोन के बरामद किया गया है, साथ ही बैंक ट्रांजेक्सन डीटेल के आधार पर चमोली पुलिस द्वारा हैलीकॉप्टर फ्रॉड का शिकार हुए अन्य लोगों से सम्पर्क किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!