टीएमयू तराशेगा सुपर 60, खुलेंगे जॉब के स्वर्णिम द्वार

Spread the love

सेंटर फॉर टीचिंग, लर्निंग एंड डवलपमेंट- सीटीएलडी टीम के हाथों में यह विशिष्ट कैंपेन

ख़ास बातें

  • छात्रों को स्टडी के संग-संग अब हायर पैकेज के लिए विशेष ट्रेनिंग  टीएमयू स्टुडेंट्स रोजगार उन्मुख कैंपेन को संजीदगी से लें : प्रो. कृष्णिया
  • प्रो. आरके द्विवेदी बोले, सीटीएलडी टीम की इस प्रतिबद्धता का कायल हूं
  • टीएमयू उत्कृष्ट पैकेज के साथ गुणवत्तापूर्ण प्लेसमेंट को संकल्पित: रैना
  • एक्सक्लूसिव कैंपेन का मुख्य मकसद छात्रों को एमएनसी में चयनित कराना
  • मास्टर ट्रेनर श्री तरूण अरोड़ा इस एक्सक्लूसिव कैंपेन के चीफ कॉर्डिनेटर

–प्रो. श्याम सुंदर भाटिया/  रजनीश तिवारी

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी से डिग्री लेने के बाद अब स्टुडेंट्स को जॉब के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। यूनिवर्सिटी के स्टडी में लीन छात्रों को अब टेक्निकल ट्रेनिंग, वर्बल एबिलिटी, लिखित परीक्षा और इंटरव्यू की बारीकियां भी सिखाई जा रही हैं। स्टुडेंट्स को साक्षात्कार में दक्ष करने के लिए यूनिवर्सिटी में सुपर 60 प्रोग्राम का शंखनाद हो चुका है। इस एक्सक्लूसिव कैंपेन के पहले चरण में इंजीनियरिंग विभाग के छात्र-छात्राएं एक महीने की ट्रेनिंग ले चुके हैं। टिमिट में भी सुपर 60 का शुभारम्भ हो चुका है, जहां प्रबंधन विभाग के स्टुडेंट्स इंजीनियरिंग के छात्रों की मानिंद प्लेसमेंट की बारीकियों के गुर सीखेंगे। इस विशेष ट्रेनिंग का मुख्य मकसद टीएमयू के छात्रों को हायर पैकेज पर मल्टीनेशनल कंपनियों में चयनित कराना है। यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर टीचिंग, लर्निंग एंड डवलपमेंट- सीटीएलडी ने सुपर 60 की लांचिंग इंजीनियरिंग कॉलेज से की है।

इस ट्रेनिंग के बाद स्टुडेंट्स जॉब के प्रति आत्मविश्वास से लबरेज हैं, ताकि उन्हें लिखित परीक्षा के दौरान किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। यह बात दीगर है, सुपर 60 के लिए चयनित इन छात्रों का सेकेंड फेज होना अभी बाकी है। इस ट्रेनिंग की कमान सीटीएलडी के डायरेक्टर प्रो. आरएन कृष्णिया और उनकी टीम के अनुभवी शिक्षकों ने सभांल रखी है। इस सघन प्रशिक्षण से चयन परीक्षा और साक्षात्कार के दौरान विद्यार्थियों के सामने आने वाली कड़ी चुनौतियों से निपटने में आसानी होगी। साक्षात्कार के समय कई बार विद्यार्थी घबरा जाते हैं। कई सवालों का जवाब जानते हुए भी नहीं दे पाते हैं। इस तरह की विपरीत परिस्थितियों का सामना भविष्य में यूनिवर्सिटी के विद्याथियों को न करना पड़े, सुपर 60 प्रोग्राम के तहत स्टुडेंट्स को दो चरणों में ट्रेंड किया जा रहा है। पहले चरण में एप्टीट्यूड, रीजनिंग एबिलिटी, सॉफ्ट स्किल्स, वर्बल एबिलिटी और टेक्निकल ट्रेनिंग दी जाएगी। आखिर में उन्हें साक्षात्कार के लिए तैयार किया जाएगा।

सीटीएलडी टीम समय-समय पर छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास के लिए कम्युनिकेशन स्किल्स, सॉफ्ट स्किल्स, एप्टीट्यूड टेस्ट ट्रेनिंग, बूट कैंप, ब्रेन मंथन और क्रॉस रोड्स जैसे तमाम प्रोग्राम आयोजित करती रहती है। इसके साथ ही यूनिवर्सिटी में प्रसिद्ध उद्योगों के प्रतिनिधियों को प्लेसमेंट के लिए भी बुलाया जाता है। सीटीएलडी के डायरेक्टर प्रो. कृष्णिया जोर देकर कहते हैं, टीएमयू स्टुडेंट्स को इस प्रोग्राम को प्राथमिकता और गंभीरता से लेना चाहिए ताकि प्रशिक्षण के मकसद को मुकम्मल किया जा सके। नतीजतन इस एक्सक्लूसिव कैंपेन का बेहतर परिणाम मिले। एफओईसीएस के निदेशक प्रो. आरके द्विवेदी कहते हैं, सीटीएलडी छात्रों को रोजगार उन्मुख बनाने को लेकर प्रतिबद्ध है। मैं विशेषकर प्रो. कृष्णिया की इस प्रतिबद्धता का कायल हूं। असिस्टेंट डायरेक्टर प्लेसमेंट श्री विक्रम रैना ने कॉर्पोरेट कंपनियों के मौजूदा हायरिंग ट्रेंड को स्ट्रांग करने की पुरजोर वकालत करते हुए कहा, टीएमयू अपने छात्रों को उत्कृष्ट वेतन पैकेज के साथ गुणवत्तापूर्ण प्लेसमेंट के लिए संकल्पित है। सीटीएलडी के मास्टर ट्रेनर श्री तरूण अरोड़ा इस एक्सक्लूसिव कैंपेन के चीफ कॉर्डिनेटर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!